This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

किराए का मकान लेकर रहते थे एटा के लुटेरे, दिन में चूड़ी बेचने के बहाने करते थे रेकी Gorakhpur News

एटा जिले के लुटेरे कुशीनगर में एक मकान केा किराये पर लिए थे। वह लूटने के पहले रेकी करते थे। पुलिस ने सभी को गिरफतार कर लिया।

Wed, 03 Jul 2019 11:19 AM (IST)
किराए का मकान लेकर रहते थे एटा के लुटेरे, दिन में चूड़ी बेचने के बहाने करते थे रेकी Gorakhpur News

गोरखपुर, जेएनएन। देवरिया पुलिस के हाथ लगे लुटेरे शातिर हैं। यह कुशीनगर जनपद में किराए पर कमरा नहीं, बल्कि पूरा मकान ले रखे थे। उसमें अन्य किसी को किराए पर नहीं रहने देते, ताकि उनकी बात कोई न सुने और न जान सके। धर्मवीर नौ भाई है। सभी भाई एक ही जगह यानी जहां धर्मवीर रहता था, वहीं रहते थे। वे दिन में चूड़ी बेचने के लिए निकलते और घटना को अंजाम देने के लिए रेकी करते।
पूरी जानकारी लेने के तीन से चार दिन के बाद धर्मवीर व ¨टकू घटना को अंजाम देते थे। बदमाशों के लोकल होने की पुष्टि हो, इसलिए यह बदमाश अपने मुंह पर गमछा बांध लेते थे। नगला बंजारा गांव के अधिकांश लोग गिरोह में शामिल एसपी का कहना है कि नगला बंजारा गांव के अधिकांश लोग इस गिरोह में शामिल हैं और घटनाओं को अंजाम देते हैं। कितनी और घटनाओं में ये शामिल हैं, इसकी भी तहकीकात चल रही है। जल्द ही मास्टर माइंड धर्मवीर को भी पुलिस रिमांड पर लेगी। ऐसे मिली पुलिस को सफलता ग्राहक सेवा केंद्र संचालक से जब बदमाशों ने लूट को अंजाम दिया तो नकदी, लैपटाप व इंटरनेट चलाने के लिए रखा डोंगल भी लेकर चले गए।
पुलिस ने जब जांच शुरू की तो पता चला कि एक बदमाश डोंगल में लगे मोबाइल सिम कार्ड का प्रयोग कर रहा है। पुलिस मोबाइल सिम कार्ड का काल डिटेल निकाली और लोकेशन निकाल कर उनके पास तक पहुंच गई। अगर वह मोबाइल सिम कार्ड का प्रयोग नहीं किया होता तो पुलिस का उन तक पहुंचने का रास्ता कठिन था। बदमाशों की ऐसे हुई गिरफ्तारी सोमवार को देवरिया पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी। रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के गौनरिया चौराहा के समीप से चार शातिर लुटेरों को दबोचा और एक माह पहले ग्राहक सेवा केंद्र संचालक से हुई लूट का पर्दाफाश किया। लूटा गया एक लाख दो हजार नकद, लैपटाप व अन्य सामान बरामद भी किया है।
घटना का मास्टर माइंड एटा जेल में बंद है, जिसे पुलिस रिमांड पर लेगी। एसपी डा.श्रीपति मिश्र ने बताया कि 27 मई को रामपुर कारखाना के ग्राम मठिया निवासी धनेश गुप्ता से 4.53 लाख बदमाशों ने उस समय लूटे थे, जब वह बैंक से रुपये निकाल कर ग्राहक सेवा केंद्र जा रहे थे। पुलिस को मुखबिर ने बीती रात सूचना दी कि रामपुर गौनरिया चौराहा के आगे चौनपुर की तरफ जाने वाले तिराहे पर चार शातिर लुटेरे खड़े हैं और किसी घटना को अंजाम देने की ताक में हैं।
सूचना पर प्रभारी निरीक्षक रामपुर कारखाना, स्वाट टीम प्रभारी संतोष सिंह व गौरीबाजार थानाध्यक्ष विनय सिंह ने पुलिस बल के साथ मौके पर घेराबंदी की। पुलिस को देख एक बदमाश ने फायर झोंक दिया। पुलिस ने चार बदमाशों को दबोच लिया। इन बदमाशों ने अपना नाम-पता टिंकू, चरन, पिंटू, बिजेंद्र निवासी नगला बंजारा, थाना जैथरा जनपद एटा बताया। उनके पास से एक लैपटाप, लूट के एक लाख दो हजार नकदी, देसी तमंचा बरामद हुआ। पिंटू ने बताया कि घटना का मास्टर माइंड उसका भाई धर्मवीर है, जो लूट के मामले में कुछ दिन से एटा जेल में बंद है।

गोरखपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!