मां की डांट से क्षुब्ध बेटी ने फंदे से लटककर दी जान Gorakhpur News

मृतका की मां ने बताया कि नेहा का बड़ा भाई व पिता बाहर मजदूरी करने गए हैं। सुबह नेहा और उसका छोटा भाई दोनों खेत की तरफ गए थे। कुछ देर बाद वह लौटी तो दरवाजा भीतर से बंद कर लिया।

Satish ShuklaPublish: Tue, 24 Nov 2020 02:26 PM (IST)Updated: Tue, 24 Nov 2020 02:26 PM (IST)
मां की डांट से क्षुब्ध बेटी ने फंदे से लटककर दी जान Gorakhpur News

गोरखपुर, जेएनएन। चौरीचौरा क्षेत्र के ग्रामसभा भरतपुर के मल्ल टोला निवासी रामपति की 19 वर्षीया पुत्री नेहा ने मां की डांट से क्षुब्ध होकर खुदकुशी कर ली। सुबह घर में फंदे से लटका उसका शव मिला।

मृतका की मां ने बताया कि नेहा का बड़ा भाई व पिता बाहर मजदूरी करने गए हैं। सुबह नेहा और उसका छोटा भाई दोनों खेत की तरफ गए थे। कुछ देर बाद वह लौटी तो दरवाजा भीतर से बंद कर लिया। थोड़ी देर बाद दरवाजा खटखटाया लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिलने पर खिड़की से झांका तो उसका शव फंदे से लटक रहा था। गावंवालों की मदद से उसने दरवाजा खोलकर शव उतरवाया। डायल 112 पर सूचना दी। गांव में यह भी चर्चा है कि रविवार रात नेहा के कमरे से किसी लड़के को निकलते हुए उसकी मां ने देख लिया था। जिस पर काफी फटकार लगाई थी। खिन्न होकर नेहा ने जान दे दी। पुलिस क्षेत्राधिकारी दिनेश कुमार सिंह का कहना है कि प्रथम दृष्टया मामला खुदकुशी का प्रतीत होता है।

30 नवंबर तक बंदियों की मुलाकात पर रोक

जिला कारागार में निरुद्ध बंदियों की मुलाकात पर 30 नवंबर तक रोक लगा दी गई है। वरिष्ठ जेल अधीक्षक डा. रामधनी ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए मार्च, 2020 से ही मुलाकात बंद है। बंदियों को घर से सामान, कंबल मंगाने की छूट है।

गिरधरगंज में मृत मिला अधेड़

गिरधरगंज बाजार में एक अधेड़ का शव मिला है। कैंट पुलिस ने पहचान कराने की कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली। स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि अधेड़ कहीं से आया और पेट्रोल पंप के पास सो गया। उसने नीला शर्ट, काला-सफेद लाइनदार फुल स्वेटर तथा काला पैंट पहना है। उसके हाथ पर गोदना से फूल बना हुआ है। पैंट की जेब में साइकिल की चाभी मिली।

चेन चोरी का मुकदमा दर्ज कराने के लिए दौड़ रही महिला

गोसहजनवां इलाके के केशवपुर निवासी मालती देवी की चेन चोरी हो गई। मुकदमा दर्ज कराने के लिए दो दिन से महिला कैंट थाने का चक्कर लगा रही है। मालती देवी ने पुलिस को बताया कि उसका मायका खोराबार के अकोलही गांव में है। 20 नवंबर को छठ मनाने मायके आई थीं। 21 नवंबर को छठ मनाकर वह आटो से अपने घर के लिए निकली। कूड़ाघाट के पास आटो में पहले से बैठी छह महिलाएं उतर गई। संदेह होने पर उसने चेक किया तो चेन गायब थी। एयरफोर्स चौकी पर पहुंचकर घटना की जानकारी चौकी प्रभारी को दी, लेकिन केस दर्ज नहीं हुआ। 

Edited By Satish Shukla

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept