This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

अनुपस्थित मिले 14 कर्मियों का सीडीओ ने रोका एक दिन का वेतन

- विकास भवन स्थित विभिन्न कार्यालयों का 1030 से 1045 तक किया निरीक्षण - कई कर्मचारी कई दि

JagranWed, 16 Dec 2020 09:10 PM (IST)
अनुपस्थित मिले 14 कर्मियों का सीडीओ ने रोका एक दिन का वेतन

- विकास भवन स्थित विभिन्न कार्यालयों का 10:30 से 10:45 तक किया निरीक्षण

- कई कर्मचारी कई दिन से मिले अनुपस्थित, सभी से मांगा गया है स्पष्टीकरण

जागरण संवाददाता, गाजीपुर : मुख्य विकास अधिकारी श्रीप्रकाश गुप्ता ने बुधवार की सुबह 10:30 से 10:45 बजे तक विकास भवन स्थित विभिन्न कार्यालयों का निरीक्षण किया। इस दौरान कुल 14 कर्मचारी अनुपस्थित मिले। उनका एक दिन का वेतन काट दिया गया। कई कर्मचारी ऐसे भी थे जो बीते कई दिनों से अनुपस्थित थे। इन सभी से तीन दिनों के अंदर स्पष्टीकरण मांगा गया है। सीडीओ के औचक निरीक्षण से संबंधितों में खलबली मची रही।

सीडीओ श्रीप्रकाश गुप्ता के निरीक्षण में डीआइओएस कार्यालय के लेखाकार शिवानंद चतुर्वेदी, वरिष्ठ सहायक समर रिजवी, संदीप शर्मा, शहनवाज आलम अनुपस्थित मिले। इसमें शहनवाज बीते 10 दिसंबर से लगातार अनुपस्थित हैं। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी कार्यालय के राम प्रभंस सिंह 14 दिसम्बर से अनुपस्थित मिले। पंचायत विभाग के प्रधान सहायक सेराजुल इस्लाम, ग्राम पंचायत अधिकारी शैलेंद्र कुमार दुबे, कनिष्ठ सहायक रिजवाना व चतुर्थश्रेणी के जयप्रकाश मिश्रा अनुपस्थित मिले। जिला कृषि अधिकारी कार्यालय के जीप चालक बचनू राम और चतुर्थ श्रेणी कर्मी बबलू कुमार उपस्थित नहीं थे। इसमें बबलू बीते एक दिसंबर से ही लगातार अनुपस्थित हैं। परियोजना अधिकारी यूपीनेडा कार्यालय के वरिष्ठ सहायक अनिल कुमार पांडेय आठ व चतुर्थ श्रेणी कर्मी राजा राम बीते एक दिसम्बर से लगातार अनुपस्थित हैं। समाज कल्याण अधिकारी कार्यालय के चतुर्थ श्रेणी कर्मी रामचंद्र भी बीते एक दिसम्बर से अनुपस्थित चल रहे हैं। सभी का एक दिन का वेतन रोकते हुए तीन दिनों के अंदर स्पष्टीकरण मांगा गया है।

----

उपस्थिति पंजिका पर लिखे मिले कर्मियों के शार्ट नाम

- सीडीओ ने जब सहायक आयुक्त एवं सहायक निबंधक सहाकारिता कार्यालय के उपस्थिति पंजिका को चेक किया तो हैरान रह गए। इसमें सभी ने हस्ताक्षर की जगह अपना शार्ट नाम लिखा था। सीओ संगीता वर्मा ने एसवी, सहायक लेखाकार श्रुति पांडेय ने एसपी, वरिष्ठ सहायक तेजप्रताप सिंह ने टीपीएस, उर्दू अनुवादक महबूब अली अंसारी ने एम, कमलेश सिंह ने केएस लिखा था। इस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए इसे आपत्तिजनक बताया। सभी को निर्देशित किया कि जो लघु पत्रवालियों में हस्ताक्षर बनाया गया है, वही उपस्थिति पंजिका पर भी बनाएं, अन्यथा कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

गाजीपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!