This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

वंचित बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने की कवायद

जासं, गाजीपुर : विद्यालयों से वंचित बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने की कवायद बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से शुरू कर दी गई है। सोमवार को जिला पंचायत सभागार में स्कूल हर दिन आए बच्चें (शारदा) अभियान के तहत न्याय पंचायत समन्वयक, खंड शिक्षाधिकारी एवं कम्प्यूटर आपरेटरों की कार्यशाला हुई।

JagranMon, 11 Feb 2019 10:35 PM (IST)
वंचित बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने की कवायद

जासं, गाजीपुर : विद्यालयों से वंचित बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने की कवायद बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से शुरू कर दी गई है। सोमवार को जिला पंचायत सभागार में स्कूल हर दिन आए बच्चें (शारदा) अभियान के तहत न्याय पंचायत समन्वयक, खंड शिक्षाधिकारी एवं कम्प्यूटर आपरेटरों की कार्यशाला हुई। इसमें दो चरणों में चलने वाले सर्वे अभियान व नामांकन की जानकारी दी गई। साथ ही अभिभावकों को सरकारी विद्यालयों के प्रति प्रेरित करने के तौर-तरीकों के बारे में बताया गया।

यूनिसेफ के स्टेट कोआर्डिनेटर रितिक पात्रा ने कहा कि निजी विद्यालयों में बच्चों को भेजने वाले अभिभावकों से मिलकर उन्हें सरकारी विद्यालयों में मिलने वाली सुविधाओं के साथ पठन-पाठन की गुणवत्ता के बारे में बताएं। बेसिक शिक्षाधिकारी श्रवण कुमार ने बताया कि जो बच्चे अभी भी विद्यालय से वंचित हैं व नामाकंन के बाद विद्यालय छोड़ दिए हैं, उनको विद्यालय में लाने के लिए सर्वे का कार्य चल रहा है। प्रथम चरण का शुभारंभ एक फरवरी को हुआ जो 31 मार्च तक चलेगा। दूसरा चरण 20 मई से 30 जून तक चलेगा। इसके तहत विद्यालय के शिक्षक अपने ग्राम सभा का सर्वे कर रिपोर्ट तैयार करेंगे। इसके बाद पहले चरण में चिह्नित बच्चों को एक अप्रैल से तथा दूसरे चरण में चिह्नित बच्चो को एक जुलाई से नामांकित कराकर शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने का काम किया जाएगा। इसके अलावा जो आठ वर्ष से ऊपर के बच्चे हैं उनके लिए विशेष प्रशिक्षण संचालित किया जाएगा। जिला समन्वयक अनुपम गुप्ता ने कहा कि सबसे अधिक नामाकंन कराने वाले प्रधानाध्यापकों को पुरस्कार भी दिया जाएगा। साथ ही ब्लाक स्तर से खंड शिक्षाधिकारी सम्मानित होंगे व मंडल स्तर पर बेसिक शिक्षाधिकारी को सम्मानित किया जाएगा। इसमें जिला समाज कल्याण अधिकारी जितेंद्र मोहन शुक्ला व पिछड़ा वर्ग अधिकारी नरेंद्र विश्कर्मा आदि रहे।

गाजीपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!