This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

व्यापारी बेखौफ होकर सेब की खरीदारी करने जा रहे कश्मीर

पांच अगस्त को हटी अनुच्छेद 370 जागरण विशेष फोटो एसबीडी 9 10 11 12 14 - अनुच्छेद

JagranWed, 04 Aug 2021 09:25 PM (IST)
व्यापारी बेखौफ होकर सेब की खरीदारी करने जा रहे कश्मीर

पांच अगस्त को हटी अनुच्छेद 370 : जागरण विशेष फोटो : एसबीडी 9, 10, 11, 12, 14 - अनुच्छेद 370 हटने के बाद से मंडी में बढ़ी सेब की आमद

- कश्मीर के किसानों को भी हो रहा फायदा हसीन शाह, साहिबाबाद :

अनुच्छेद 370 हटने के बाद से व्यापारियों के लिए कश्मीर जन्नत बन गया है। साहिबाबाद के व्यापारी बेखौफ होकर कश्मीर में सेब खरीदने जा रहे हैं। कश्मीर में सुरक्षित माहौल मिलने के चलते सेब की आमद साहिबाबाद मंडी में बढ़ गई है। साल 2018-19 में कश्मीर से 24 हजार नौ सौ क्विंटल सेब की आमद हुई थी। अनुच्छेद 370 हटने के बाद से गाजियाबाद में सेब 2019-20 में सेब की 57 हजार क्विंटल सेब साहिबाबाद मंडी पहुंचा है। इस साल सेब की बंपर आमद हो रही है। अब तक 26 हजार क्विंटल सेब मंडी में आ चुका है। सेब की मांग बढ़ने से किसानों को फायदा हुआ है। साहिबाबाद मंडी के आढ़ती कश्मीर और हिमाचल प्रदेश से सेब मंगवाते हैं। कश्मीर के अलग-अलग जिले के सैकड़ों किसान सेब बेचते हैं। अनुच्छेद 370 हटने से पहले कश्मीर के सेब के व्यापार पर आतंकी साया था। आतंकी घटनाएं व्यापारियों में डर पैदा करती थीं। व्यापारी खौफ में थे। यहां के ज्यादातर आढ़ती खुद सेब खरीदने वहां नहीं जाते थे। बिचौलियों के जरिये सेब मंगवाते थे। इसके बदले में बिचौलिये भारी कमीशन वसूलते थे। बिचौलियों की वजह से किसानों को भी नुकसान होता था। बिचौलिये किसानों से सेब को सस्ता खरीदते थे और आढ़ती को महंगा बेचते थे। अनुच्छेद 370 हटने के बाद आतंकवादी घटनाओं में कमी आई है। इसके बाद आतंकियों से सख्ती से निपटा गया तो कानून व्यवस्था में भी सुधार हुआ। इससे व्यापारियों में सुरक्षा का माहौल पैदा हुआ है। अब आढ़ती कश्मीर जाकर सीधा किसानों से सेब खरीद रहे हैं। इससे किसान को अपनी फसल की सही कीमत मिल रही है। साहिबाबाद में पुलवामा, श्रीनगर, शोपियां, कुलगाम, अनंतनाग, सोपोर, शोपियां आदि स्थानों से सेब आता है।

-------

अनुच्छेद 370 हटने के बाद मैं खुद कश्मीर जाकर किसान से सेब खरीदता हूं। पहले वहां बहुत खतरा था। व्यापारी कश्मीर में अब ज्यादा सुरक्षित हैं। इससे किसानों में भी खुशी है।

- सतीश कुमार, आढ़ती

------

पहले कश्मीर जाने से हम डरते थे। इस वजह से हमें केवल हिमाचल प्रदेश से ही सेब खरीदना पड़ता था। जब 370 हटी है, हम कश्मीर जाकर किसानों से सेब खरीद रहे हैं।

- चौधरी बिजेंद्र, आढ़ती ------- अनुच्छेद 370 हटने का फायदा हुआ है। पहले असुरक्षा की भावना रहती थी। हम बिचौलियों के बजाय सीधा किसान से सेब खरीद रहे हैं। पहले कभी-कभी सेब खरीदने जाते थे, लेकिन डर लगता था।

- शादाब कुरेशी, आढ़ती

-----

अनुच्छेद 370 हटने के बाद से मंडी के आढ़ती कश्मीर जाकर सेब खरीद रहे हैं। खासकर हिदू आढ़ती कश्मीर जाने से पहले की तरह नहीं डर रहा है। इससे आढ़ती और कश्मीर के किसानों को फायदा हुआ है।

- विश्वेंद्र कुमार, मंडी सचिव

Edited By Jagran

गाजियाबाद में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
Jagran Play

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

  • game banner
  • game banner
  • game banner
  • game banner