दीवाली पार्टी में बार बाला से संबंध बनाने से रोकने पर युवक को पीटा, दारोगा गिरफ्तार

जागरण संवाददाता गाजियाबाद दीवाली पार्टी में बार बाला से संबंध बनाने की कोशिश और विरोध पर इमरान नाम के युवक को पीटने के आरोप में जिला पुलिस ने दारोगा जितेंद्र कुमार गौतम को गिरफ्तार किया है। मसूरी थाना की आध्यात्मिक नगर चौकी पर तैनात 2015 बैच का दारोगा जितेंद्र गौतम मथुरा के जमुनापार क्षेत्र का मूल निवासी है।

JagranPublish: Sat, 06 Nov 2021 08:52 PM (IST)Updated: Sat, 06 Nov 2021 08:52 PM (IST)
दीवाली पार्टी में बार बाला से संबंध बनाने से रोकने पर युवक को पीटा, दारोगा गिरफ्तार

जागरण संवाददाता, गाजियाबाद: दीवाली पार्टी में बार बाला से संबंध बनाने की कोशिश और विरोध पर इमरान नाम के युवक को पीटने के आरोप में जिला पुलिस ने दारोगा जितेंद्र कुमार गौतम को गिरफ्तार किया है। मसूरी थाना की आध्यात्मिक नगर चौकी पर तैनात 2015 बैच का दारोगा जितेंद्र गौतम मथुरा के जमुनापार क्षेत्र का मूल निवासी है। घटना बृहस्पतिवार शाम की है। इसमें इमरान की तहरीर पर थाना मसूरी में ही शुक्रवार रात जितेंद्र गौतम, मसूरी निवासी उसका दोस्त कुलदीप और डासना के उस्मानगढ़ी निवासी शकील, ताज मोहम्मद उर्फ तज्जी और गुलफाम के खिलाफ बलवा, मारपीट करने और हत्या की धमकी देने की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई थी। यह था पूरा मामला :

इमरान के मुताबिक वह पुलिस चौकी की सफाई करता है। चार नवंबर को दीवाली के दिन शकील ने बताया कि दारोगा जितेंद्र पार्टी करेंगे। दोनों साथ में गए और चिकन खरीदकर एक जगह तैयार करने को दिया। दारोगा ने फोन कर उसे एनएच-9 स्थित देव हाईट्स सोसायटी की 10वीं मंजिल पर स्थित फ्लैट में बुलाया। इमरान के मुताबिक यहां दारोगा, कुलदीप और दो लड़कियां थीं, जिन्हें पार्टी में डांस करने के लिए बुलाया गया था। दारोगा ने उसे एक हजार रुपये देकर बीयर लाने भेजा। वह लौटा तो उनमें से एक लड़की फ्लैट के बाहर मिली और कहा कि दारोगा जबरदस्ती कर रहा है। लड़की के जाने के बाद वह फ्लैट पर पहुंचे तो दारोगा और उसका साथी दूसरी लड़की से बदतमीजी कर रहे थे। इमरान ने विरोध किया तो उसे पीटना शुरू कर दिया। आरोप है कि वह जान बचाकर भागा तो दारोगा ने पीछा किया और सोसायटी में आ रहे दारोगा के साथी गुलफाम, शकील और तज्जी ने इमरान को घेर लिया और बुरी तरह पीटा। हंगामा होने पर लोगों को आता देख दारोगा ने उसे छोड़ दिया। बाद में दारोगा ने तज्जी को इमरान के घर भेजकर हत्या की धमकी दिलाई। बढ़ सकती हैं मुश्किलें :

हंगामे के कारण मामला पुलिस अधिकारियों के पास पहुंचा तो एसएसपी पवन कुमार ने एएसपी सदर आकाश पटेल को जांच सौंपी। एएसपी सदर ने शुक्रवार शाम रिपोर्ट दी, जिसके आधार पर एसएसपी ने जितेंद्र गौतम को निलंबित कर उसकी गिरफ्तारी के आदेश दिए। बाकी आरोपित फरार चल रहे हैं। पुलिस जांच में सामने आया है कि दारोगा एक ठेकेदार के फ्लैट में रहता था। पुलिस के मुताबिक, इमरान ही बार बालाएं लाता था। कप्तान ने जितेंद्र के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई के लिए विभागीय जांच के भी आदेश दिए हैं। दारोगा को फिलहाल जमानत तो मिल गई है, लेकिन उसकी मुश्किलें अभी और बढ़ सकती हैं। पुलिस दोनों लड़कियों को ट्रेस कर रही है। इनके बयान के आधार पर दारोगा के खिलाफ दर्ज केस में छेड़छाड़ की धारा बढ़ाई जा सकती है। जिले में ऐसा पहला मामला : मामूली बात पर लोगों से मारपीट करने के आरोप पुलिसकर्मियों पर अक्सर लगते रहते हैं। मगर जिले में यह पहला मामला है, जिसमें आरोपित पुलिसकर्मी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई कर उसे गिरफ्तार किया गया है। एसएसपी पवन कुमार का कहना है कि चंद लोगों की वजह से पूरे पुलिस विभाग की छवि खराब होती है। यह भी इसी तरह का मामला था। इसीलिए हरसंभव कार्रवाई की गई है। कप्तान ने कहा कि पुलिस की छवि खराब करने वाले पुलिसकर्मी अपने आचरण में सुधार कर लें।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept