नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और हापुड़ में भी 30 जनवरी तक स्कूल बंद

UP School Closed News सरकारी आदेश के तहत यूपी के सभी स्कूल 30 जिनमें सरकारी और प्राइवेट स्कूल भी शामिल हैं 30 जनवरी तक बंद रहेंगे। बताया जा रहा है कि सरकार ने कोरोना के चलते राहत देते हुए स्कूलों को बंद करने का ऐलान किया है।

Jp YadavPublish: Sat, 22 Jan 2022 01:37 PM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 01:58 PM (IST)
नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और हापुड़ में भी 30 जनवरी तक स्कूल बंद

गाजियाबाद/नोएडा, आनलाइन डेस्क। School Closed News: कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों और जारी ठंड के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और हापुड़ समेत सूबे भर में आगामी 30 जनवरी तक 12वीं कक्षा तक के स्कूलों को बंद करने का फैसला किया है। सरकारी आदेश के तहत यूपी के सभी स्कूल 30 जिनमें सरकारी और प्राइवेट स्कूल भी शामिल हैं, 30 जनवरी तक बंद रहेंगे। बताया जा रहा है कि सरकार ने कोरोना के चलते  राहत देते हुए स्कूलों को बंद करने का ऐलान किया है, सिर्फ आनलाइन कक्षाएं जारी रख सकेंगे। गौरतलब है कि यूपी सरकार ने 31 दिसंबर से 16 जनवरी तक स्कूलों में शीतकालीन अवकाश घोषित किया था, जिसे बाद में बढ़ाकर 23 जनवरी किया गया था। अब इसे बढ़ाकर 30 जनवरी कर दिया गया है। वहीं, विधानसभा चुनाव के लिए शिक्षक व शिक्षणेतर कर्मियों का विद्यालय आना अनिवार्य है।

छात्र-छात्राओं को भी मिलेगी राहत

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, जनवरी के अंत तक शीतलहर के साथ ठिठुरन भरी ठंड जारी रहेगी। ऐसे में 30 जनवरी तक स्कूलों को बंद करने के ऐलान के बाद छात्र-छात्राओं और शिक्षकों को भी राहत मिलेगी। बता दें कि भीषण ठंड के दौरान सबसे ज्यादा प्रभावित छोटे बच्चे और छात्र-छात्राएं होते हैं।

ये भी पढ़े- दिल्ली में दुकानें खोलने जाने को लेकर क्या है व्यापारियों की राय, पढ़िये- ताजा सर्वे

आनलाइन कक्षाएं रहेंगीं जारी

यूपी सरकार के आदेश में यह भी कहा गया है कि स्कूल तो बंद रहेंगे, लेकिन 30 जनवरी तक पूर्व की तरह आनलाइन कक्षाएं जारी रहेंगीं। जिससे छात्र-छात्राओं की शिक्षा बाधित नहीं हो। बता दें कि पिछले दो साल से जारी कोरोना के चलते स्कूलों को कई बार बंद करना पड़ा है, जिससे बच्चों की पढ़ाई भी बाधित हुई है।

शिक्षकों की लगेगी चुनाव में ड्यूटी, होगी ट्रेनिंग

बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए पहले चरण में 58 सीटों पर मतदान होना है। इसके लिए शिक्षकों को चुनाव ड्यूटी में लगाया जाएगा। इसके लिए शिक्षकों को प्रपत्र भी जारी हो चुके हैं। बताया जा रहा है कि शिक्षकों का चयन करने के बाद उनकी ट्रेनिंग होगी, ऐसे शिक्षकों का अवकाश भी रद होगा यानी चुनाव ट्रेनिंग और ड्यूटी पर जाना होगा।

छात्राएं और दिव्यांग अपने ही विद्यालय में देंगे परीक्षा

उधर, उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षा में छात्राओं और दिव्यांग छात्रों का परीक्षा केंद्र अपने ही विद्यालय में रहेगा। इनको बोर्ड ने स्वकेंद्र की सुविधा दी है। ऐसे केंद्रों पर 50 प्रतिशत पर्यवेक्षक बाहरी होंगे। परीक्षा के लिए 58 केंद्रों का निर्धारण किया गया है। जिला विद्यालयी निरीक्षक डा. धर्मवीर सिंह ने बताया कि गौतमबुद्ध नगर में इस सत्र में बोर्ड के लिए 37,520 छात्र पंजीकृत है। इसमें 17,017 छात्राएं शामिल हैं। छात्राओं की संख्या 20,530 है। इस वर्ष परीक्षार्थियों की संख्या में 4,170 कमी है। बीते वर्ष 41,690 छात्र पंजीकृत थे। छात्राओं की सहूलियत के लिए उनको स्वकेंद्र की सुविधा दी गई है। सभी विद्यार्थियों का डाटा बोर्ड की वेबसाइट पर पंजीकृत होगा गया है। बोर्ड परीक्षा मार्च माह के तीसरे सप्ताह के बाद प्रस्तावित है। परीक्षा के लिए बोर्ड ने पहले ही 70 प्रतिशत पाठ्यक्रम तय किया है। इसके लिए सभी विद्यालयों को समय पर पाठ्यक्रम पूरा करने के भी निर्देश दिए गए हैं।

जानें, दिल्ली में कब है महीने का अंतिम ड्राइ डे और शराब की दुकानों के खुलने का टाइमिंग

वीकेंड कर्फ्यू के लिए यह है दिल्ली मेट्रो की जारी की नई गाइडलाइन, खबर पढ़ने के बाद करें यात्रा

Edited By Jp Yadav

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept