Kisan Andolan: राकेश टिकैत को धमकी देने के मामले में आया नया मोड़, जानिये- शख्स ने क्या कहा

भाकियू नेता राकेश टिकैत को जान से मारने की धमकी देने वाले युवक ने माफी मांग ली है। उसने सामने से आकर पहल करते हुए इस कृत्य के लिए Sorry बोला है। ऐसे में राकेश टिकैत ने भी कार्रवाई के लिए कोई अनुरोध नहीं किया है।

Jp YadavPublish: Tue, 07 Dec 2021 08:17 AM (IST)Updated: Tue, 07 Dec 2021 08:17 AM (IST)
Kisan Andolan: राकेश टिकैत को धमकी देने के मामले में आया नया मोड़, जानिये- शख्स ने क्या कहा

नई दिल्ली/ गाजियाबाद [अवनीश मिश्र]। दिल्ली-यूपी के गाजीपुर बार्डर पर जारी किसानों के धरना  प्रदर्शन की अगुवाई करने वाले भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत को धमकी का मामला सुलट गया है। दरअसल, भाकियू नेता राकेश टिकैत को जान से मारने की धमकी देने वाले युवक ने माफी मांग ली है। उसने सामने से आकर पहल करते हुए इस कृत्य के लिए  'Sorry' बोला है। ऐसे में राकेश टिकैत ने भी कार्रवाई के लिए कोई अनुरोध नहीं किया है।

बता दें कि राकेश टिकैत की सुरक्षा में तैनात मुख्य आरक्षी नितिन शर्मा के मुताबिक बृहस्पतिवार रात को राकेश टिकैत के मोबाइल पर एक काल आई। काल करने वाले ने बातचीत के दौरान राकेश टिकैत को गाली देते हुए जान से मारने की धमकी दी। उन्होंने मामले की कौशांबी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने छानबीन की तो आरोपित कर्णप्रयाग उत्तराखंड का सुरेंद्र रावत निकला। उत्तराखंड पुलिस की मदद से यहां की पुलिस सुरेंद्र तक पहुंची उसने अपनी गलती मानी और लिखित में माफीनामा दिया। पुलिस के मुताबिक राकेश टिकैत ने युवक को माफ कर दिया। इस कारण उसे गिरफ्तार नहीं किया गया।

नितिन शर्मा ने दी शिकायत में कहा था कि बृहस्पतिवार रात को किसान नेता राकेश टिकैत के मोबाइल फोन पर एक काल आई। बातचीत में युवक ने राकेश टिकैत को गाली देते हुए जान से मारने की धमकी दी थी। यह पहला मौका नहीं है, जब किसान नेता राकेश टिकैत को धमकी मिली है, अब तक उन्हें 5 बार जान से मारने की धमकी मिल चुकी है।

वहीं, जानकारों की मानें तो कुछ लोग मीडिया में चर्चा में पाने के लिए भी राकेश टिकैत को धमकी दे रहे हैं। जब उन्हें लगता है कि मामला पुलिस के पास चला जाएगा तो वे माफी मांग लेते हैं। यह अलग बात है कि राकेश टिकैत को धमकी मिलने को लेकर यूपी पुलिस लगातार कार्रवाई करती है।

किसान नेता राकेश टिकैत ने आखिर कैसे पूरी की यूपी की बिटिया कमलप्रीत की जिद

योगी आदित्यनाथ के लिए आई बड़ी खुशखबरी, यूपी में कृषि कानून नहीं है प्रमुख चुनावी मुद्दा

Edited By Jp Yadav

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम