एनएचएम कर्मियों की हड़ताल शुरू, स्वास्थ्य केंद्रों पर पसरा रहा सन्नाटा

- सीएमओ कार्यालय पर प्रदर्शन स्वास्थ्य केंद्रों से अनेक मरीज बैरंग लौटे - सोमवार को हुआ था लखनऊ में प्रदर्शन टीकाकरण अभियान को झटका

JagranPublish: Wed, 01 Dec 2021 06:59 AM (IST)Updated: Wed, 01 Dec 2021 06:59 AM (IST)
एनएचएम कर्मियों की हड़ताल शुरू, स्वास्थ्य केंद्रों पर पसरा रहा सन्नाटा

जागरण संवाददाता, फिरोजाबाद: समान कार्य- समान वेतन और विनियमितीकरण समेत सात सूत्रीय मांगों को लेकर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के संविदा कर्मचारी मंगलवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए। सीएमओ कार्यालय परिसर में धरना- प्रदर्शन के दौरान कर्मचारी नेताओं ने शासन पर मांगें नहीं मानने का आरोप लगाया। कर्मचारियों की हड़ताल से स्वास्थ्य केंद्रों पर सन्नाटे जैसी स्थिति रही। मरीजों के इलाज और टीकाकरण का काम प्रभावित हुआ। अनेक मरीजों को बिना इलाज कराए लौटना पड़ा।

स्वास्थ्य केंद्रों पर नेशनल हेल्थ मिशन के एक हजार कर्मचारी फार्मासिस्ट, स्टाफ नर्स, एएनएम और वार्ड ब्वाय आदि पदों पर काम कर रहे हैं। सीएमओ कार्यालय में सुबह 10 बजे से धरना प्रदर्शन शुरू हुआ। वहीं स्वास्थ्य केंद्रों पर सन्नाटा पसरा रहा। स्थाई कर्मचारियों की मदद से मरीजों का इलाज किया गया, इसके बाद भी अनेक मरीज लौटने को विवश हुए। इस बीच राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष प्रसून प्रताप सिंह ने बताया कि विनियमितीकरण, समायोजन, वेतन पालिसी बना कर वेतन तय करने समेत सात सूत्रीय मांगें कई महीने से शासन से की जा रही हैं। सोमवार को लखनऊ में भी धरना प्रदर्शन किया गया था, लेकिन मांगें नहीं मानी गईं। प्रांतीय आह्वान पर मांगें पूरी होने तक सीएमओ कार्यालय परिसर में धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। संगठन के महामंत्री पवन किशोर चौधरी, राहुल यादव, सौरव यादव, हरि सिंह, योगेश मिश्रा, मोहम्मद आलम, सुधीर कुमार, प्रदीप यादव, अरविंद चौधरी, प्रबल प्रताप सिंह, विजय यादव, सत्यव्रत यादव, मनीष गोयल आदि संविदा कर्मचारी उपस्थित थे। सिरसागंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक डा. कपिल यादव और टूंडला सीएचसी के चिकित्सा अधीक्षक डा. योगेंद्र कुमार ने बताया कि हड़ताल से टीकाकरण प्रभावित हुआ है। मरीजों का इलाज विभाग के स्थाई कर्मचारी कर रहे हैं। वहीं प्रभारी सीएमओ डा. अशोक कुमार ने बताया कि हड़तालियों की सभी मांगें शासन स्तर से पूरी की जा सकती हैं। सीएमओ के स्तर का मामला नहीं है। उनकी हड़ताल से कामकाज प्रभावित हुआ है। मरीजों के हित में हड़ताली कर्मचारी काम पर लौट आएं। - एएनएम ने नहीं लगाए टीके, 50 फीसद टीके लगे एनएचएम कर्मियों की हड़ताल से कोरोना टीकाकरण के काम पर भी करीब 50 फीसद असर पड़ा। विभाग की स्थाई एएनएम ने टीकाकरण किया, लेकिन संविदा पर काम करने वाली एएनएम हड़ताल पर रही। - आशा कार्यकर्ता से हाजीपुरा स्वास्थ्य केंद्र पर कराया टीकाकरण

शहर के हाजीपुरा नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डा. योगेश कुमार ने आशा कार्यकर्ता से स्वास्थ्य केंद्र पर टीकाकरण का काम कराया। इसकी शिकायत कुछ लोगों ने सीएमओ कार्यालय पर की। उनका कहना था कि आशा कार्यकर्ता टीकाकरण नहीं कर सकतीं। इस बारे में कार्यवाहक सीएमओ डा. अशोक कुमार ने बताया कि आशा कार्यकर्ताएं भी टीकाकरण के लिए प्रशिक्षित हैं।

---

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept