सख्त पहरे में हुई शिक्षक पात्रता परीक्षा, देरी से पहुंचे परीक्षार्थियों ने किया हंगामा

पहली पाली में 34 और दूसरी में 24 केंद्रों पर हुई परीक्षा निरीक्षण करते हुए अधिकारी सक्रिय रहे आंतरिक सचल दस्ते।

JagranPublish: Mon, 24 Jan 2022 05:42 AM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 05:42 AM (IST)
सख्त पहरे में हुई शिक्षक पात्रता परीक्षा, देरी से पहुंचे परीक्षार्थियों ने किया हंगामा

संवाद सहयोगी, फिरोजाबाद: उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) रविवार को सख्त पहरे में हुई। सघन तलाशी लेने के बाद ही परीक्षार्थियों को प्रवेश दिया गया। कई केंद्रों पर देरी से पहुंचे परीक्षार्थियों ने प्रवेश नहीं मिलने पर हंगामा किया। दो पाली में आयोजित परीक्षा में 25 हजार 569 परीक्षार्थी शामिल हुए, जबकि 2,781 अनुपस्थित रहे। नोडल अधिकारी सहित अन्य अधिकारी केंद्रों का निरीक्षण करते रहे, वहीं आंतरिक सचल दस्ते भी सक्रिय रहे।

रविवार सुबह दस बजे जिले के 34 केंद्रों पर शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) की प्राइमरी स्तर की परीक्षा शुरू हुई। इसके लिए आठ बजे से ही केंद्रों पर परीक्षार्थियों की भीड़ पहुंचना शुरू हो गई। केंद्रों के बाहर सीट प्लान देखने को आपाधापी मची रही। पर्यवेक्षक और स्टेटिक मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में कर्मचारियों ने बारी-बारी से परीक्षार्थियों की सघन तलाशी लेने के बाद ही प्रवेश दिया। वहीं कई केंद्रों पर साढ़े नौ बजे के बाद परीक्षार्थी पहुंचे, इन्हें अधिकारियों ने वापस लौटा दिया। अधिकारियों का कहना था, कि शासन ने परीक्षा शुरू होने से एक घंटे पहले तक प्रवेश देने के निर्देश दिए हैं। केंद्रों के बाहर पर्याप्त संख्या में पुलिस फोर्स तैनात रहा।

डीआइओएस बालमुकुंद सहित सेक्टर एवं जोनल मजिस्ट्रेट केंद्रों का निरीक्षण करते रहे। वहीं दोपहर 2.30 बजे से दूसरी पाली में 24 केंद्रों पर उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा शुरू हुई। इस दौरान स्टेशन रोड स्थित एमजी बालिका इंटर कालेज में कुछ परीक्षार्थी देर से पहुंचे। गेट बंद देखकर वह सड़क पर बैठकर हंगामा करने लगे। पुलिस ने आनन-फानन में गेट खुलवाकर उन्हें प्रवेश दिलाया। दूसरी पाली में भी सख्ती बरती गई।

-----

परीक्षा केंद्रों के बाहर लगी रही भीड़: सुबह प्राथमिक की परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों में से कई ने उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा का भी फार्म भरा था। ऐसे में पहली पाली की परीक्षा संपन्न होने के बाद परीक्षार्थी केंद्रों के बाहर ही तैयारी करते रहे।

-----

परीक्षा के बाद शहर की राहों पर जाम : परीक्षा छूटने के बाद जाम जैसे हालात बने रहे। कोटला रोड पर दो कालेजों में परीक्षा थी, ऐसे में पेपर छूटने के बाद वाहनों की लंबी लाइन लग गई। वहीं स्टेशन रोड पर एमजी कालेज के बाहर सुबह और दोपहर की पाली छूटने के बाद जाम लगा रहा। पुलिस के जवान जाम खुलवाने में जुटे रहे।

---

भीड़ में टूटे कोरोना नियम के पालन: शासन ने कोरोना नियमों का पालन कराते हुए परीक्षा संपन्न कराने के निर्देश दिए थे। जिसके तहत केंद्रों में कक्ष की क्षमता के हिसाब से परीक्षार्थी बिठाए गए, लेकिन परीक्षा केंद्रों के बाहर भीड़ में शारीरिक दूरी का नियम टूट गया।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept