कागजों में चल रहा रैन बसेरा, ठिठुरते लोगों को मिलता ताला

जागरण टीम फतेहपुर गलन भरी सर्दी से लोगों को राहत देने के लिए शासन के निर्देश पर जिले

JagranPublish: Sun, 16 Jan 2022 07:43 PM (IST)Updated: Sun, 16 Jan 2022 07:43 PM (IST)
कागजों में चल रहा रैन बसेरा, ठिठुरते लोगों को मिलता ताला

जागरण टीम, फतेहपुर : गलन भरी सर्दी से लोगों को राहत देने के लिए शासन के निर्देश पर जिले की दो नगर पालिका और छह नगर पंचायतों में रैन बसेरा और अलाव की सुविधा दी गई है। शनिवार की रात पहर आठ नगर निकायों के रैन बसेरा की पड़ताल हुई। असोथर, बहुआ और किशुनपुर, जहानाबाद में तालाबंदी रही तो अन्य में सर्द रातों में पथिकों को आश्रय देने की योजना राहतकारी बनी हुई है। नगर निकाय के प्रभारी/अपर जिलाधिकारी विनय पाठक ने कहाकि रैन बसेरा और अलाव की मुकम्मल व्यवस्था की गई है। इनकी चेकिग भी कराई जाती है। कस्बा स्तर के रैन बसेरों में रुकने वालों की संख्या नहीं रहती है। जबकि जिला मुख्यालय और दोनों तहसील मुख्यालयों में यह बेहद सफल हैं।

सदर पालिका

स्थान : रेलवे स्टेशन, समय : रात 10 बजे : सदर पालिका द्वारा रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन और जिला अस्पताल में रैन बसेरा संचालित किए जा रहे हैं। रेलवे स्टेशन के रैनबसेरा में जयपुर राजस्थान के फूल सिंह, जिले के चौहट्टा गांव निवासी संतोष, दिल्ली के मनोज और थरियांव के शुभम दुबे ठहरे हुए मिले। रेल से सफर करने के लिए समय से पहले पहुंचे थे। जिला अस्पताल और रोडवेज बस अड्डे के रैन बसेरा लोगों को राहत दे रहे हैं। आदर्श नगर पंचायत खागा

समय : रात 10 बजे, स्थान : रैन बसेरा सुजरही : सुजरही रैन बसेरा में दो पथिक रुके हुए मिले। औरैया से प्रयागराज जा रहे प्रताप सिंह व अखिलेश कुमार ने बताया कि रात में वाहन चलाने में दिक्कत हो रही थी। रैन बसेरा का बोर्ड देखकर रुक गए। सर्दी से बचने के लिए पर्याप्त प्रबंध होने की वजह से कोई दिक्कत नहीं है।

नगर पंचायत हथगाम

समय : रात 10: 30 बजे, स्थान : कैंपस : नगर पंचायत बिल्डिंग में बनाए गए रैन बसेरा में चौकीदार और अंदर चार लोग ठहरे हुए मिले। रैन बसेरा में रुके अमदाबाद गांव के रहने वाले सोमदत्त, पप्पू दुबे, लवकुश तथा सतेंद्र सिंह ने बताया कि प्रसव पीड़िता को लेकर सीएचसी आए थे। रैन बसेरा के बारे में बताया तो यहां आ गए।

नगर पालिका बिदकी

स्थान : बरातशाला, समय : रात 9:33 बजे : को-आपरेटिव बैंक में कार्यरत बृजमोहन निवासी रानीपुर झांसी यहां बैंक के काम से आए, रात हो गई तो रैन बसेरा में ठहर गए। रैन बसेरा में दो अन्य लोग ठहरे मिले। थाना जाफरगंज के इटरा गांव निवासी पवन व दूसरे बकेवर थाने के जोगापुर गांव के लक्ष्मी नारायण भी यहां ठहरे थे। रैन बसेरों में व्यवस्था को दुरुस्त रखने के निर्देश दिए गए हैं। अगर कहीं दिक्कत है तो वहां समस्याओं को दूर करने के लिए पालिका और पंचायत अफसरों को निर्देश दिया जाएगा।

धीरेंद्र सिंह, एडीएम

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept