This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

150 ई-पॉस मशीनें खराब, 20 हो गईं डेड

जागरण टीम फतेहपुर राशन वितरण में पारदर्शिता के लिए कोटेदारों को दी गई चाइना मेड

JagranThu, 03 Sep 2020 11:33 PM (IST)
150 ई-पॉस मशीनें खराब, 20 हो गईं डेड

जागरण टीम, फतेहपुर : राशन वितरण में पारदर्शिता के लिए कोटेदारों को दी गई चाइना मेड ई-पॉस मशीनें दगा दे रही है। बारिश के समय आई नमी के कारण 20 से अधिक मशीने जहां डेड हो गई वहीं 150 से अधिक खराब पड़ी हैं, जिन्हें विभाग सही नहीं करा पा रहा है। दूसरी तरफ रखरखाव के लिए जिम्मेदार संस्था भी केवल खोखले वादे तक सीमित हैं। कई जगह तो मात्र चार्जर न मिलने से मशीनें काम नहीं कर रही हैं। बिदकी तहसील

देवमई ब्लाक में बैट्री की खराबी से 13, चार्जर की खराबी से 10 मशीनें काम नहीं कर रही हैं। यहां पर 4 मशीनें डेड अवस्था में महीनों से पड़ी हैं। खजुहा ब्लाक में सात मशीनें डेड, सात चार्जर व दो आई रिस्क की खराबी से बंद हैं। मलवां ब्लाक में पांच मशीनें पूरी तरह से डेड हो चुकी हैं जबकि छह के चार्जर, चार बैट्री की खराबी से काम नहीं कर रही हैं। अमौली ब्लाक में तीन दुकानों की मशीनें डेड हैं। सात चार्जर व आठ बैट्री की खराबी से बंद पड़ी हैं। क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी मनोज उत्तम ने बताया ग्रामीण क्षेत्र की 81 मशीनें खराब हैं। ऐसे में प्रभावित दुकानों से पुरानी प्रणाली से ही वितरण किया जा रहा है। खागा तहसील

धाता ब्लाक के देवरार, कारीकान धाता, उमरा, विजयीपुर ब्लाक में सिठियानी, ऐरायां ब्लाक में कासिमपुर तथा हथगाम ब्लाक के मोहम्मदाबाद कोटेदार की ई-पॉस मशीनें खराब पड़ी होने से वितरण में दिक्कत आ रही है। पूर्ति निरीक्षक विजयीपुर आशुतोष त्रिपाठी ने बताया कि मशीन मरम्मत के लिए संस्था के टेक्नीशियन समय-समय पर आते हैं, लेकिन पा‌र्ट्स आदि न मिल पाने से समय से मरम्मत नहीं हो पाती है। सदर तहसील

बहुआ, असोथर, ब्लाक में 10 से अधिक कोटे की दुकानों की मशीनें काम नहीं कर पा रही है। विकास खंड तेलियानी, हसवां में छह से अधिक मशीनें डेड है। कोटेदारों ने बताया कि बारिश के समय में मशीनें अधिक संख्या में खराब हो रही है। मशीनों के काम न करने की शिकायत दर्ज करा दी जाती है, लेकिन समय से ठीक नही हो पाती है। मशीन के साथ जो चार्जर मिले थे वह खराब हो जाने के बाद दूसरा चार्जर मिल ही नहीं पा रहा है।

..............

मशीनों के पा‌र्ट्स मिलने में दिक्कतें आ रही है, यही कारण है कि मशीनें शिकायत दर्ज कराने के बाद भी समय से ठीक नहीं हो पाती।

अंजनि कुमार, जिलापूर्ति अधिकारी

Edited By Jagran

फतेहपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!