लोहिया अस्पताल में सीडीओ का छापा, मिला सन्नाटा

जागरण संवाददाता फर्रुखाबाद डॉ. राममनोहर लोहिया अस्पताल में सुबह दस बजे के बाद अधिकांश

JagranPublish: Thu, 18 Feb 2021 10:47 PM (IST)Updated: Thu, 18 Feb 2021 10:47 PM (IST)
लोहिया अस्पताल में सीडीओ का छापा, मिला सन्नाटा

जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : डॉ. राममनोहर लोहिया अस्पताल में सुबह दस बजे के बाद अधिकांश चिकित्सक और कर्मचारी ड्यूटी पर पहुंचते हैं, इसका राजफाश गुरुवार को हो गया। जब सुबह ठीक आठ बजे सीडीओ ने छापा मारकर वहां अव्यवस्था से रूबरू हो गए। महिला अस्पताल में भी कोई चिकित्सक व कर्मचारी नहीं मिला। सीडीओ ने लोहिया अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से कहा कि क्या दयनीय दशा बना रखी है तो उन्होंने जवाब दिया कि 'साहब मेरी कोई सुनता ही नहीं'।

बुधवार सुबह सीडीओ डॉ. राममनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचे। उन्होंने एनआरसी, एसएनसीयू से लेकर इमरजेंसी का निरीक्षण किया। इसके बाद वह ओपीडी पहुंचे। यहां पर सन्नाटा पसरा हुआ था। सीएमएस डॉ. अशोक कुमार, नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. सर्वेश यादव, दंत रोग विशेषज्ञ डॉ. श्रेय खंडूजा और कुछ स्वास्थ्य कर्मचारी ही अपने-अपने कक्ष में मिले। सीडीओ ने ओपीडी के आने जाने वाले गेट बंद कराकर उपस्थिति रजिस्टर कब्जे में ले लिए। ताकि देरी से आने वाले कर्मचारियों का पता चल सके। सीएमएस से कहा अस्पताल में क्या दयनीय दशा बना रखी है। इस पर सीएमएस बोले साहब मेरी कोई सुनता नहीं है। सीडीओ ने बताया कि अनुपस्थित मिले डॉ. धर्मेंद्र कुमार, डॉ. इमरान अली, स्वास्थ्य कर्मियों में रोहित, अभिषेक बाजपेयी, अनुराग का दो दिन व एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए हैं। जब कि पैथालॉजिस्ट डॉ. स्वास्ति बाजपेयी, कर्मचारी में इंद्रेश कुमार, नीतू वर्मा, शिवा चौहान, शाहिल, रीना स्मार्ट आदि को चेतावनी दी गई है। महिला अस्पताल में केवल सीएमएस डॉ. कैलाश दुल्हानी ही मिले। अन्य चिकित्सक व कर्मचारियों से स्पष्टीकरण मांगा गया है। सीएमएस ने बताया कि डॉक्टर व कुछ कर्मचारी देरी से आते हैं।

सीधे सवालों से उल्टे जवाब

सवाल : आप कहां थे? .हम आपके पीछे खड़े थे।

सीडीओ की नजर आर्थोपैडिक सर्जन डॉ. ऋषिकांत वर्मा पर पड़ी। उन्होंने पूछा आप कहां थे, इस पर चिकित्सक बोले सर मैं आप के पीछे खड़ा था। फार्मासिस्ट मुकेश दीक्षित निरीक्षण के दौरान सीडीओ के साथ में रहे। डॉ. गौरव मिश्रा राउंड पर थे।

सवाल : हस्ताक्षर क्यों नहीं किए? .मैं टेंशन में हूं

सीडीओ ने चीफ फार्मासिस्ट ब्रजेश कुमार से पूछा कि उपस्थिति रजिस्टर में हस्ताक्षर क्यों नहीं किए। इस पर फार्मासिस्ट बोले, वह टेंशन में हैं। इस पर सीडीओ ने सात दिन के अवकाश पर जाने को कहा।

नीचे शिफ्ट होगा पोषण पुनर्वास केंद्र

मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि दूसरी मंजिल पर स्थित पोषण पुनर्वास केंद्र पर जाने के लिए बच्चों और उनके अभिभावकों को दिक्कत होती हैं। इसलिए इसे नीचे शिफ्ट किया जाएगा। इसके लिए उन्होंने सीएमएस के साथ जगह देख ली है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept