सूर्य निकलने से मिली कुछ राहत, शाम को फिर बढ़ी सर्दी

जागरण संवाददाता इटावा सोमवार को तड़के शीतलहर चलने से कोहरा साफ हो गया लेकिन आम ज

JagranPublish: Mon, 24 Jan 2022 05:54 PM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 07:46 PM (IST)
सूर्य निकलने से मिली कुछ राहत, शाम को फिर बढ़ी सर्दी

सूर्य निकलने से मिली कुछ राहत, शाम को फिर बढ़ी सर्दी

जागरण संवाददाता, इटावा : सोमवार को तड़के शीतलहर चलने से कोहरा साफ हो गया लेकिन आम जनमानस को कड़ाके की सर्दी से छुटकारा नहीं मिला। बीते रविवार की तुलना में तापमान में दो डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। सुबह न्यूनतम 07 तो दोपहर में अधिकतम 17 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सूरज चमकने से दिन में आम जनजीवन को राहत मिल गई लेकिन आठ किमी की स्पीड से शीतलहर चलने से आवागमन करने वाले हाड़कंपाऊ सर्दी का अहसास कर रहे थे।

चार दिन बाद सुबह नौ बजे सूरज की तेज चमक होने से जनजीवन को राहत मिलने लगी जिससे दोपहर से अपराह्न के मध्य मौसम काफी खुशगवार हो गया। इससे लोगों ने धूप का जमकर आनंद लिया। काफी संख्या में लोगों ने कपड़ों को धूप दिखाकर उनमें व्याप्त नमी को दूर किया। सार्वजनिक स्थलों तथा फुटपाथ पर सजे बाजारों में रौनक दिखी। दूसरी ओर धूप खिलने से किसानों ने फसलों की देखरेख करके फसलों को रोगों से बचाव करने के सार्थक प्रयास किए। दिन में शीतलहर चलने से आवागमन करने वालों का बुरा हाल था। शाम होते ही वातावरण में सर्दी की गलन फिर से हो गई जिससे लोगों ने घरों में ही दुबकने में खैर समझी। सार्वजनिक स्थानों पर अलाव न जलने से आम लोगों और राहगीरों को कड़ाके की सर्दी का अहसास करना पड़ा।

पहाड़ों पर जारी बर्फबारी और बारिश से मैदानी क्षेत्र में अभी शीतलहर संग कड़ाके की सर्दी का दौर जारी रहेगा, आगामी 48 घंटों में तापमान में और अधिक गिरावट होगी। कानपुर मंडल में न्यूनतम तापमान चार-पांच डिग्री के करीब रहेगा। किसान फसलों के बचाव के प्रति सजगता बरतें, मौसम साफ रहने पर ही कीटनाशक छिड़काव करें।

डा. एसएन सुनील पांडेय

कृषि मौसम विज्ञानी

----------

कड़ाके की सर्दी में नहीं जले अलाव

संवादसूत्र, वैदपुरा : कड़ाके की सर्दी में भी वैदपुरा क्षेत्र में अलाव नहीं लगे। चौराहा तथा प्राचीन शिव मंदिर थाने के सामने गो आश्रय स्थल चार स्थानों पर प्रतिवर्ष अलाव लगाए जाते थे लेकिन इस बार प्रशासन की अनदेखी के चलते अलाव क्षेत्र में नहीं जलवाए गए जिससे असहाय लोग कड़ाके की सर्दी में जीवन यापन करने मजबूर हैं। क्षेत्रीय लोगों के द्वारा लेखपाल को इसकी सूचना दे दी गई थी, आश्वासन तो मिला था लेकिन अलाव अभी तक नहीं जले। वैदपुरा बाजार के व्यापारियों में रणवीर सिंह यादव, मनोज गुप्ता, सेलू गुप्ता, रामू लाला, प्रदीप गुप्ता आदि ने अलाव जलवाने की मांग की है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept