This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

जमुनापारी बकरी को बचाना उत्कृष्ट कार्य

जागरण संवाददाता इटावा जमुनापारी बकरी की संरक्षण और संवर्धन में समूह की महिलाओं द्वारा

JagranWed, 28 Oct 2020 01:45 AM (IST)
जमुनापारी बकरी को बचाना उत्कृष्ट कार्य

जागरण संवाददाता, इटावा : जमुनापारी बकरी की संरक्षण और संवर्धन में समूह की महिलाओं द्वारा किया जा रहा प्रयास प्रशंसनीय हैं। पशुपालन के क्षेत्र में यह एक उत्कृष्ट कार्य हैं। इससे महिलाओं की आजीविका बढ़ेगी तथा क्षेत्र में विलुप्त हो रहीं जमुनापारी बकरियों की फिर से संख्या में बढ़ोतरी होगी।

यह बात जिलाधिकारी श्रुति सिंह ने विकासखंड बढ़पुरा के अंतर्गत बीहड़ क्षेत्र के ग्राम गाती में मनरेगा के अंतर्गत नवनिर्मित जमुनापारी पशु शेड राष्ट्रीय आजीविका मिशन ग्रामीण के तहत संचालित उन्नति प्रेरणा ग्राम संगठन को हस्तांतरित करने के उपरांत उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने अधिकारियों को नियमित भ्रमण करके पशुपालन में आ रही कठिनाइयों को दूर कराने के लिए निर्देशित किया। पशु चिकित्सा विभाग से समन्वय कर बकरियों की स्वास्थ्य परीक्षण नियमित रूप से कराने और प्रशिक्षित कर्मी द्वारा आय-व्यय का लेखाजोखा पारदर्शी तरीके से रखने पर जोर देते हुए कहा कि महिलाओं का हमेशा उत्साहवर्धन करना चाहिए।

मुख्य विकास अधिकारी डॉ. राजा गणपति आर ने कहा कि जमुनापारी बकरी प्रकृति का अनुपम उपहार है जो जनपद के लिए धरोहर समान है। इसके संरक्षण और संवर्धन का दायित्व हम सभी का है। यह इटावा की शान है। उपायुक्त स्वत: रोजगार बृजमोहन अम्बेड ने कहा कि बकरी पालन में हर प्रकार की सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। इसके अतिरिक्त बेमौसम सब्जी, ड्रेस सिलाई, मोमबत्ती, अगरबत्ती, मसाला चक्की, चप्पल बनाना, दोना पत्तल बनाने इत्यादि में रुचि रखने वाली सदस्यों को निश्शुल्क प्रशिक्षण करा आजीविका गतिविधि से जोड़ा जाएगा। उपायुक्त मनरेगा शौकत अली ने कहा समूह की महिलाएं बहुत ही संघर्षशील हैं जो विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य कर रही हैं।

जिला मिशन प्रबंधक दीपेंद्र सिंह तोमर, नंदकिशोर साह व संतोष कुशवाहा ने कहा कि इस नस्ल की बकरी की देश के कई हिस्सों मे तथा विदेशों में अत्यधिक मांग है। संगठन की अध्यक्ष रश्मि ने बताया कि उपरोक्त जमुनापारी शेड में बकरियों का संरक्षण नियमित कुशल बकरी पालकों द्वारा किया जाता है। ब्लॉक प्रबंधक केके चौधरी ने कहा कि क्षेत्र में जमुनापारी रूप में तीन प्रजातियां विकसित हैं जिसमें मूलत: जमुनापारी, तोता परी, हंसा है। एडीओ पंचायत अखिलेश यादव, ग्राम प्रधान सावित्री देवी, सचिव मृदुल शर्मा, ब्लॉक प्रबंधक ब्रजराज सिंह, समूह सखी शशिलता, रश्मि, सुशीला, प्रभा, नंदनी समूह की महिलाएं उपस्थित थीं।

Edited By Jagran

इटावा में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!