अहेरीपुर गोशाला में जल्द लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

संवादसूत्र अहेरीपुर सोमवार को दैनिक जागरण समाचार पत्र द्वारा ग्रामीणों के शोर मचाने पर

JagranPublish: Mon, 24 Jan 2022 07:30 PM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 07:50 PM (IST)
अहेरीपुर गोशाला में जल्द लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

अहेरीपुर गोशाला में जल्द लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

संवादसूत्र, अहेरीपुर : सोमवार को दैनिक जागरण समाचार पत्र द्वारा ग्रामीणों के शोर मचाने पर अहेरीपुर गोशाला से भागे कसाइयों की घटना को प्रमुखता से प्रकाशित किया तो प्रशासन सकते में आ गया। उपजिलाधिकारी भरथना विजयशंकर तिवारी ने गहनता निरीक्षण करके सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाने तथा संपूर्ण प्रकरण की जांच कराकर प्रभावी कार्रवाई कराने का निर्देश दिया। दूसरी ओर कई लोगों का कहना कि अब प्रशासन इस मामले को दबाने में जुट गया है।

एसडीएम भरथना बीडीओ महेवा निरंजन त्रिवेदी तथा अन्य अधिकारियों संग गोशाला आए, जिन्होंने काफी देर तक गोशाला संचालक और कर्मियों से पूछताछ की। थाना प्रभारी बकेवर विद्यासागर सिंह ने कार्यरत कर्मियों को कड़ी हिदायत दी तथा संपूर्ण प्रकरण के संबंध में विस्तृत छानबीन की। एसडीएम ने ग्रामीणों से कहा कि घटना की जांच कराई जा रही है जो भी दोषी होंगे उन सभी के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई होगी। एडीओ पंचायत श्यामबरन राजपूत, लेखपाल प्रवीण कठेरिया, प्रधान प्रतिनिधि अखिलेश वर्मा भाजपा मंडल अध्यक्ष प्रदीप तिवारी आदि मौजूद थे।

बीडीओ ने मानी लापरवाही

संवादसूत्र, महेवा : अहेरीपुर स्थित गोशाला से कसाइयों के भागने की खबर को लेकर बीडीओ महेवा निरंजन त्रिवेदी ने प्रथम ²ष्ट्या जांच में मामला घोर लापरवाही का माना। इसके तहत केयर टेकर को कड़ी चेतावनी देते हुए एक दिन का मानदेय काटने, ग्राम सचिव का तीन दिन का वेतन काटने का आदेश किया। इसी के साथ प्रधान को परिनिदा पत्र प्रेषित कराया।

-------------

अब गोवंशी की सुरक्षा के प्रति हुए सजग

संवादसूत्र, महेवा : बीते पखवारे से जारी कड़ाके की सर्दी में ठिठुर-ठिठुरकर काल के गाल में समा रहे गोवंश की सुरक्षा पर अफसरों को अहेरीपुर की घटना होने पर उनकी सुरक्षा के प्रति सजगता का भाव जागा।

सोमवार को बीडीओ निरंजन त्रिवेदी ने ब्लाक क्षेत्र की भरईपुर, लुधियानी, हर्राजपुर, अहेरीपुर, ईश्वरीपुर, धर्मपुर, बहादुरपुरघार, नबादाखुर्द कला सहित आठ ग्राम पंचायतों में संचालित गोशालाओं के संचालक प्रधानों व सचिवों संग बैठक करके गोवंश को सुरक्षित रखने तथा बेसहारा गोवंश को अतिशीघ्र गोशालाओं में पहुंचाने की रणनीति तैयार की। गोवंश को सर्दी से बचाने के लिए गोशालाओं में पन्नी, झाल व अलाव की व्यवस्था कराने तथा भूसा, दाना व नमक पर्याप्त रूप में रखने के साथ 24 घंटे केयर टेकरों की चक्रानुक्रम तैनाती रखने पर जोर दिया गया। मृत गोवंश को तीन फीट गहरे गड्ढे में पोस्टमार्टम के बाद दफनाने का निर्णय लिया गया। प्रधान प्रतिनिधि अहेरीपुर अखिलेश वर्मा ने प्रति गोवंश खर्च बढ़ाने की मांग की। पशु चिकित्सक डा. सोमेश निगम, डा. शरद यादव आदि मौजूद थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept