विधानसभा चुनाव 2022: हर एक बूथ पर खास होगा यूथ

30 से 39 आयु वर्ग के सबसे ज्यादा हैं मतदाता हर विधानसभा में बदल सकते हैं चुनाव का रुख

JagranPublish: Wed, 19 Jan 2022 05:10 AM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 05:10 AM (IST)
विधानसभा चुनाव 2022: हर एक बूथ पर खास होगा यूथ

जासं, एटा: विधानसभा चुनाव 2022 के चुनाव में हर बूथ पर यूथ की ताकत प्रत्याशियों का भाग्य लिखने में खास अहमियत रखेगी। जहां पहली बार मतदान करने वाले नए मतदाता हजारों में है। वहीं 18 से 39 आयु वर्ग के यूथ मतदाताओं पर गौर करें तो उनकी संख्या चुनाव का रुख बदलने के लिए पर्याप्त है। इस आयु वर्ग के मतदाताओं की संख्या कुल मतदाताओं के सापेक्ष 60 से 65 फ़ीसद के मध्य है।

कहा भी जाता है कि जिस ओर जवानी चलती है उस ओर जमाना चलता है की तर्ज विधानसभा चुनाव में भी खास हो सकती है। राजनीतिक दलों के चुनावी घोषणा पत्रों का अभी इंतजार है, लेकिन यह तय है कि हर पार्टी युवाओं का रुख अपनी ओर मोड़ने के लिए घोषणा पत्रों में उनको लुभावने का प्रयास करेगी। एटा जिले की चार विधानसभा क्षेत्रों में मतदाताओं की स्थिति स्पष्ट हो चुकी है। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में युवा मतदाताओं की संख्या पर गौर किया जाए तो युवाओं की उंगलियां उनका चुनावी भविष्य लिखने में सक्षम है। बात 18 से 19 साल के पहली बार मतदान करने वाले फ‌र्स्ट वोटर युवाओं की की जाए तो 19202 युवा मतदाता निर्णायक भूमिका निभा सकते हैं। इस आयु वर्ग के एटा विधानसभा में सर्वाधिक 5540 मतदाता है। वही सबसे कम जलेसर में 4118 युवा वोटर भी परिणाम प्रभावित कर सकते हैं। 20 से 29 आयु वर्ग के अंतर्गत जिले में 292079 तथा 30 से 39 आयु वर्ग के अंतर्गत 331539 मतदाता किसी भी पार्टी या प्रत्याशी विशेष की तकदीर लिखने में अहम और निर्णायक साबित हो सकते हैं। 20 से 29 आयु वर्ग में अलीगंज विधानसभा में सर्वाधिक 74392 तथा 30 से 39 आयु वर्ग में भी इसी विधानसभा के 92141 मतदाता युवाओं की ताकत को चुनाव से पहले ही एहसास कराने में खास हैं। ऐसे में निश्चित है कि हर राजनीतिक पार्टी तथा प्रत्याशियों को युवा मतदाताओं को अपनी और आकर्षित करने के लिए प्राथमिकता पर रखना होगा। युवाओं के लिए शिक्षा, कौशल विकास, रोजगार, नौकरी, भत्ता तथा तकनीकी संसाधन उपलब्ध कराने जैसी घोषणाएं उनकी ताकत पाने के लिए खास होंगी। जिले में मतदाताओं का फैक्ट फाइल

- कुल मतदाता -1281191

- 18 से 19 वर्ष आयु वर्ग के मतदाता-19202

- 20 से 29 आयु वर्ग के मतदाता - 292079

- 30 से 39 आयु वर्ग के मतदाता - 331539

- 40 से 49 आयु वर्ग के मतदाता - 229645

- 50 से 59 आयु वर्ग के मतदाता - 202486

- 60 से 69 आयु वर्ग के मतदाता - 118417

- 70 से 79 आयु वर्ग के मतदाता - 62634 विधानसभा वार युवा मतदाताओं की स्थिति

--------

विधानसभा -18 से 19 वर्ष-20 से 29-30 से 39

अलीगंज-4727-74392-92141

एटा-5540-72900-87484

मारहरा-4817-72697-78450

जलेसर -4118-72090-73464 युवाओं की बात

------

- चुनाव आते ही हर राजनीतिक दल युवाओं को तरह-तरह से रिझाने का काम करते हैं। जरूरी है कि बेहतर लोकतंत्र के लिए शिक्षित युवा लोग लालच के बजाय राष्ट्रहित को ध्यान में रखते हुए अपने मत का प्रयोग करें।

अश्वनी सिंह

- चुनाव से पहले घोषणा पत्र में युवाओं के हित की तमाम बात की जाती हैं, लेकिन चुनाव जीतने के बाद कितनी बातें सत्य साबित होती हैं यह सभी जानते हैं। युवाओं के लिए वादे पर जो खरा उतरा मेरा वोट उसी को जाएगा।

सर्वेंद्र शर्मा

- यह बात सही है कि शिक्षा के संसाधन हर सरकार में बढ़ जाते हैं और युवाओं को उच्च शिक्षा तक आसानी हुई है। समस्या यह है कि पढ़ने लिखने के बावजूद युवाओं को जो रोजगार दे सके वही दल या सरकार हितेषी है। योजनाओं या बेरोजगारी भत्ते के नाम पर कब तक गुमराह हों।

शैलेश गुप्ता

- चलो यह बात सही है कि सरकार सभी को नौकरी नहीं दे सकती है, लेकिन पढ़ लिखकर जो युवा खुद का रोजगार करना चाहते हैं उन्हें ऋण लेने में कितनी समस्या या फिर सफलता ही नहीं मिल पाती। कम से कम ऋण लेने की गुंजाइश तो देनी चाहिए। जीतने वाले विधायक भी मदद नहीं करते। सूरज सिंह

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept