संक्रमण हुआ तेज, 133 नए कोरोना पाजिटिव

रविवार को जिले में कोरोना संक्रमण और तेजी से बढ़ता नजर आया। तीसरी लहर में अब तक 24 घंटे में 133 सबसे अधिक मामले सामने आए हैं। मलावन स्थित जवाहर तापीय विद्युत परियोजना के प्लांट पर संक्रमण जोर पकड़ रहा है जहां दो दर्जन और लोग पाजिटिव निकले हैं। 53 पाजिटिव लोग स्वस्थ होने के बाद अब जिले में 349 सक्रिय केस हो गए हैं।

JagranPublish: Mon, 17 Jan 2022 04:01 AM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 04:01 AM (IST)
संक्रमण हुआ तेज, 133 नए कोरोना पाजिटिव

जागरण संवाददाता, एटा: रविवार को जिले में कोरोना संक्रमण और तेजी से बढ़ता नजर आया। तीसरी लहर में अब तक 24 घंटे में 133 सबसे अधिक मामले सामने आए हैं। मलावन स्थित जवाहर तापीय विद्युत परियोजना के प्लांट पर संक्रमण जोर पकड़ रहा है, जहां दो दर्जन और लोग पाजिटिव निकले हैं। 53 पाजिटिव लोग स्वस्थ होने के बाद अब जिले में 349 सक्रिय केस हो गए हैं।

जिले में भले ही अभी तक ओमिक्रोम का कोई मामला सामने नहीं आया, लेकिन कोरोना संक्रमित की संख्या में हर रोज इजाफा हो रहा है। रविवार को 1241 लोगों की कोरोना जांच की गई। एंटीजन तथा आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट आने के बाद 133 संक्रमित सामने आए हैं। एटा शहर में रेलवे रोड पर सबसे ज्यादा नौ मामले मिले हैं। इसके अलावा घंटाघर, श्रृंगार नगर, सब्जी मंडी, सीडीओ आफिस, एचडीएफसी बैंक, सीएमओ आफिस, द्वारिकापुरी, जेल रोड, जज कालोनी, कासगंज रोड अलीगंज में गंगा दरवाजा, तहसील परिसर, अवागढ़ में मुहल्ला सिघाड़ियान, रायान किला रोड, नयावास, जैथरा में थाना नेहरू नगर, शास्त्री नगर, पीएससी, रजबपुर, तरगवां, सकीट के रेवाड़ी कबार सरदलगढ़ में कोरोना संक्रमित निकले हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों में भी संक्रमण के बढ़ने से गांव असरौली, घिलौआ, सिलामई, नगला गंगा, नगला भवानी, खुसरई नगला, काजी, नगला धनी, भोजपुर आदि में भी दर्जनों लोग संक्रमित मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा संक्रमित मिले लोगों को होम आइसोलेट कराते हुए उपचार शुरू किया गया है। लोगों को संक्रमण से बचने के लिए सतर्क रहने को भी कहा जा रहा है। बढ़ता संक्रमण घटती जांच कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय की नई गाइड लाइन के अनुरूप अब जांच का दायरा कम किया गया है। संक्रमित के संपर्क में आने वाले उन्हीं लोगों का परीक्षण कराया जा रहा है, जिनमें कोरोना के लक्षण मिल रहे हैं। यही वजह है कि पिछले 3 दिनों से जांच का दायरा 1500 से 1800 लोगों की जांच तक सीमित रह गया है। सीएमओ डा. उमेश त्रिपाठी ने बताया है कि जांच अब लक्षण दिखने पर ही की जाएगी।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept