एटा में बारिश, धूप और शीत का संगम

तड़के जिले के विभिन्न क्षेत्रों में बारिश बढ़ीं दुश्वारियां दिनभर रही बदलों की लुकाछुपी ठंडी हवा से नहीं राहत

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 05:44 AM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 05:44 AM (IST)
एटा में बारिश, धूप और शीत का संगम

जासं, एटा: शनिवार को बारिश, धूप और बादलों के साथ शीत का संगम दिखा। सुबह तड़के बारिश से मौसम को सर्दी का तड़का लगा तो कोहरे से राहत मिली। सूर्यदेव को भी चमकने का मौका मिला, लेकिन लुका छुपी के खेल में दोपहर बाद आसमान में बादल हावी हो गये। तापमान में भले ही सुधार हो, लेकिन ठंडी हवाओं से शीतलहर से राहत नहीं है।

भले ही शुक्रवार की शाम को सूर्यदेव की चमक अगले दिनों मौसम सुधारने का संकेत दे गई, लेकिन देर रात के बाद ठंडी तेज हवाएं तथा आसमान में कोहरे के मध्य बादल बढ़ते गए। सुबह तड़के 4 बजे के बाद 7 बजे तक कहीं अधिक तो कहीं कम बारिश ने परेशानियां बढ़ा दी। शहर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश से फिर फिसलन और कहीं-कहीं जलभराव से समस्या पैदा हो गई। बारिश थमने के बाद सूर्यदेव ने भी तेज दिखाया तो जनमानस सूर्य चमकते ही राहत की उम्मीद में उनकी किरणों से राहत पाने के लिए निकला। धूप की तपिश कमजोर थी, लेकिन दोपहर तक फिर बादलों ने आसमान में कब्जा जमा लिया और सूर्यदेव ओझल हो गए। ठंडी हवाओं की रफ्तार कम न हुई और लोगों को शीतलहर का एहसास कराती रही। लगातार कड़कड़ाती ठंड और कभी-कभी सूर्यदेव के दर्शन जैसा वातावरण मौसमी रोगों को भी बढ़ा रहा है।

हालांकि शनिवार को दिन में सुधरे मौसम के बीच बाजार में रौनक बड़ी तथा बसों में भी यात्री बढ़ते नजर आए, लेकिन शाम को बादलों के आसमान में वर्चस्व तथा हवाओं के चलते लोग जल्दी ही घरों में घुस गए। बादल फिर से जाने के चलते बारिश जैसी स्थितियां बनी रही। शीतलहर के मध्य राहत पाने के लिए अलाव तथा गर्म कपड़ों का सहारा बना हुआ है। वैसे शनिवार को तापमान सामान्य वृद्धि के साथ न्यूनतम 10 डिग्री सेल्सियस तथा अधिकतम 16 डिग्री सेल्सियस रहा। गेहूं के लिए संजीवनी बनी बारिश

-भले ही ठंड तथा बारिश सब्जियों के लिए परेशानी है, लेकिन गेहूं की फसल के लिए बारिश को संजीवनी बताया जा रहा है। बारिश से फसलों की सिचाई आसान तथा फसल वृद्धि बेहतर होने का अनुमान है। अब 30 जनवरी तक स्कूल बंद

----------

कड़कड़ाती सर्दी के मध्य अब शासन के निर्देश पर कोरोना संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए सभी शैक्षणिक संस्थान 30 जनवरी तक बंद रहेंगे। जिला अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने सभी सरकारी तथा प्राइवेट शिक्षण संस्थानों को 30 जनवरी तक बंद रखने तथा इस दौरान आनलाइन कक्षाएं संचालित किए जाने के निर्देश जारी किए हैं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept