पुरानी पेंशन की बहाली तक आंदोलन की चेतावनी

ब्लाक संसाधन केंद्र परिसर में संयुक्त संघर्ष संचालन समिति की शुक्रवार को बैठक हुई। जिसमें पुरानी पेंशन बहाली को लेकर चर्चा कर संघर्ष जारी रखने का निर्णय लिया गया।

JagranPublish: Fri, 12 Nov 2021 10:55 PM (IST)Updated: Fri, 12 Nov 2021 10:55 PM (IST)
पुरानी पेंशन की बहाली तक आंदोलन की चेतावनी

देवरिया: ब्लाक संसाधन केंद्र परिसर में संयुक्त संघर्ष संचालन समिति की शुक्रवार को बैठक हुई। जिसमें पुरानी पेंशन बहाली को लेकर चर्चा कर संघर्ष जारी रखने का निर्णय लिया गया।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष रामायण राय ने कहा कि पुरानी पेंशन बहाली समेत शिक्षक व कर्मचारियों की अनेक मांगें लंबे समय से लंबित है। विभाग व शासन स्तर पर बार-बार पत्रक देने, वार्ता व आंदोलन के बाद भी शासन के कानों पर कोई जू नहीं रेंग रहा है। लोकतंत्र में यह स्थिति बेहद गंभीर है। प्रदेश के शिक्षक, कर्मचारियों ने अपनी चट्टानी एकता के माध्यम से निर्णायक आंदोलन के लिए कमर कस लिया है। 25 नवंबर को पूरे प्रदेश में धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। विजय कुमार सिंह ने कहा कि जब-जब शिक्षकों, कर्मचारियों के सम्मान से किसी सत्ता प्रतिष्ठान ने खिलवाड़ किया है, उसे मुंह की खानी पड़ी है। वर्तमान सरकार यदि समय रहते पुरानी पेंशन जैसे संवदेनशील मुद्दे पर नहीं चेती तो समय आने पर उसे करारा जवाब दिया जाएगा। जिलाध्यक्ष अजय सिंह ने कहा कि वर्तमान समय शिक्षक, कर्मचारियों के आपसी समन्वय व एकजुटता है। यह आरपार की लड़ाई का समय है। बैठक में सुनील कुमार सिंह, गोविद सिंह, देवाकांत मणि, अवनीश दीक्षित, रामकृपाल यादव, अवध बिहारी पांडेय, रामबालक सिंह, करुणेश तिवारी, मुन्ना, शांति स्वरूप तिवारी, स्वतंत्र तिवारी मौजूद रहे। ओबीसी मोर्चा ने दिया धरना

राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग ओबीसी मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में तहसील परिसर में धरना दिया। मांगों से संबंधित छह सूत्रीय मांग पत्र उपजिलाधिकारी ध्रुव कुमार शुक्ल को सौंपा।

बीएमपी के जिला सचिव रामवशिष्ठ कुशवाहा ने कहा कि मोर्चा पूरे देश में जातिगत जनगणना कराने, तीनों काले कृषि कानूनों को वापस लेने, बैलेट पेपर से चुनाव कराने, केंद्र व राज्य कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाल करने, सरकारी संस्थाओं का निजीकरण बंद करने आदि मांगों को लेकर पूरे देश में आंदोलन कर रहा है। उन्होंने कहा कि यह आंदोलन पूरे देश में पांच चरणों में किया जा रहा है। आंदोलन का यह तीसरा चरण है। इस मौके पर प्रदेश सचिव सत्यप्रकाश यादव, अनमोल भारतीय, जयप्रकाश भारतीय, वीरेंद्र यादव,संतोष भारतीय आदि उपस्थित रहे ।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept