साधन सहकारी समितियों में खाद की किल्लत, मुश्किल में किसान

रबी के फसल की बोआई चल रही है। खेत खाली हो चुके हैं इस बीच अधिकांश साधन सहकारी समितियों से डीएपी खाद नहीं है। जिसके चलते किसानों को हर दिन खाद के लिए भटकना पड़ रहा है। किसानों की बोआई पिछड़ रही है।

JagranPublish: Tue, 23 Nov 2021 11:19 PM (IST)Updated: Tue, 23 Nov 2021 11:19 PM (IST)
साधन सहकारी समितियों में खाद की किल्लत, मुश्किल में किसान

देवरिया: रबी के फसल की बोआई चल रही है। खेत खाली हो चुके हैं, इस बीच अधिकांश साधन सहकारी समितियों से डीएपी खाद नहीं है। जिसके चलते किसानों को हर दिन खाद के लिए भटकना पड़ रहा है। किसानों की बोआई पिछड़ रही है। किसानों को प्राइवेट दुकानों पर जाना पड़ रहा है।

जिले में 168 साधन सहकारी समितियां इन दिनों सक्रिय है। इसमें से अधिकांश समितियों पर खाद व बीज उपलब्ध नहीं है। जिसके चलते किसान परेशान हैं। खाद के अभाव में उन्हें बैरंग लौटना पड़ रहा है। जिला कृषि अधिकारी मोहम्मद मुजम्मिल ने बताया कि कुछ गोदामों पर खाद उपलब्ध नहीं है। आवंटन कर दिया गया है, जल्द ही खाद उपलब्ध कराई जा रही है। किसानों की समस्या का समाधान किया जाएगा। बीज तो है पर, खाद नहीं

तरकुलवा: क्षेत्र के बालपुर कृषि बीज गोदाम पर बीज तो पर्याप्त मात्रा में है, जहां से किसान विभिन्न प्रजाति के बीज ले जा रहे हैं। लेकिन समितियों पर खाद नदारद है।

कृषि बीज गोदाम पर पड़ताल के दौरान गेहूं 720 क्विंटल, चना 80 किलोग्राम, मटर 120 किलोग्राम, मसूर 20 किलोग्राम, पीला सरसों 120 किलोग्राम, काला सरसों 128 किलोग्राम तथा तोरी 60 किलोग्राम मिला। साधन सहकारी समिति सुंदरपुर सोहनरिया तथा सोन्हुला रामनगर में कुछ दिन पहले खाद तो आई थी, लेकिन इस समय नहीं है। कोंहवलिया, महुअवा बजराटार में भी खाद की किल्लत है, जिसके चलते किसानों को बैरंग वापस लौटना पड़ रहा है। आवंटन तक सीमित खाद

लार: क्षेत्र की साधन सहकारी समिति बभनौली पांडेय पर रबी फसल की बोआई के लिए डीएपी का आवंटन तो हुआ, लेकिन समिति तक नहीं पहुंचा। जिसके चलते किसानों को काफी परेशान हो रही है। समिति के अध्यक्ष अजेश कुमार पाण्डेय ने इसकी पुष्टि करते हुए नाराजगी जाहिर किया। क्षेत्र में कुल 13 साधन सहकारी समितियों में से नौ समितियों पर उर्वरक व कुछ पर बीज का भी आवंटन हुआ और उठान भी संबंधित कर्मचारी द्वारा किया गया, लेकिन बभनौली पाण्डेय समिति पर किसानों एक बोरी भी देखने तक को नहीं मिली। खुखुंदू स्थित साधन सहकारी समिति से खाद व बीज गायब है। जिसके चलते किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। करौंदी बाजार संवाददाता के अनुसार साधन सहकारी समिति गौर कोठी पर एक सप्ताह से खाद नहीं है। किसान सुग्रीव यादव, आनंद गुप्ता, रामकिशुन, विशेष यादव, रविद्र यादव, अलाउद्दीन खां, त्रिवेणी सिंह, शत्रुघ्न ने कहा कि हर दिन आकर लौटना पड़ रहा है। पथरदेवा संवाददाता के अनुसार पथरदेवा साधन सहकारी समिति से 15 दिनों से खाद नदारद है। यही हाल कंठीपट्टी, शाहपुर समितियों का भी यही हाल है। लार रोड संवाददाता के अनुसार क्षेत्र के साधन सहकारी समितियों पर खाद नहीं है। समिति पर खाद उपलब्ध नहीं, किसान परेशान

सलेमपुर: तहसील क्षेत्र के किसी भी समिति पर खाद उपलब्ध नहीं है। रबी की बुवाई का अंतिम समय चल रहा है। ऐसे में किसान समितियों का चक्कर लगा रहे हैं। खाद न होने से किसान मायूस होकर प्रतिदिन घर लौट रहे हैं। जिस समिति पर खाद आने की सूचना मिल रही है वहां किसान सुबह से लाइन में लग जा रहे हैं। घंटो इंतजार के बाद जब पता चलता है कि खाद नही आएगी तो उन्हें निराश होकर वापस लौटना पड़ रहा है।

सलेमपुर विकास खंड के पुरैना, साधन सहकारी समिति लिमिटेड पांडेयपुर, परसिया भगौती, इसके अलावा लार ब्लाक के साधन सहकारी समिति भरौली कुण्डौली, भागलपुर ब्लाक के साधन सहकारी समिति पिपराबांध, भागलपुर, धरमेर, मठिया इन्दौली सहित सभी 13 समितियों में किसी भी समिति पर खाद उपलब्ध नहीं है। किसान मनसा मिश्र, भीम पांडेय, विनय कुमार, राजेश दुबे, मनीष कुशवाहा आदि किसानों ने बताया कि डीएपी किसी भी समिति पर नहीं मिल रही है। जिसके फसल की बोआई भी प्रभावित हो रही है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept