तहसील गेट भाकियू महाशक्ति के कार्यकर्ता ने दिया धरना

तहसील गेट पर भाकियू महाशक्ति के कार्यकर्ताओं मांगों को लेकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। साथ ही जिलाधिकारी संबोधित ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा और शीघ्र सुनवाई नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।

JagranPublish: Thu, 13 Jan 2022 11:05 PM (IST)Updated: Thu, 13 Jan 2022 11:05 PM (IST)
तहसील गेट भाकियू महाशक्ति के कार्यकर्ता ने दिया धरना

बुलंदशहर, टीम जागरण। तहसील गेट पर भाकियू महाशक्ति के कार्यकर्ताओं मांगों को लेकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। साथ ही जिलाधिकारी संबोधित ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा और शीघ्र सुनवाई नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।

गुरुवार को भारतीय किसान यूनियन महाशक्ति के कार्यकर्ता एकत्र होकर तहसील पर पहुंच गए और तहसील गेट पर ही धरने पर बैठ गए। जहां उन्होंने कहा कि गांव लालपुर चितोला स्थित बोरौली मार्ग की चकरोड़ को कब्जा है। जिसको उन्होंने कब्जामुक्त कराने की मांग की। इसके अलावा उन्होंने कहा कि बेसहारा पशु लगातार किसानों की फसलों को बर्बाद कर रहे हैं। जिस कारण किसान परेशान है और रात के समय अपने खेतों पर फसलों की रखवाली करने के लिए मजबूर है। उन्होंने बेसहारा पशुओं को पकड़कर गोशाला भिजवाने की मांग की। वहीं उपभोक्ताओं को प्रति यूनिट पूरा राशन देने, जर्जर तारों को बदलने आदि मांगों को लेकर नारेबाजी की। वहीं मांगों के शीघ्र पूरा नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी। वहीं दूसरी तरफ डीएम संबोधित ज्ञापन तहसीलदार शिवौतार सिंह को सौंपा। इसमें ठाकुर धमेंद्र सिंह, संजय शर्मा, वीरेंद्र, विष्णु, धमेंद्र, दामोदर सिंह, अमित अरोरा, रिकू सिंह, देवेंद्र सिंह, संजीत कुमार, इमरान सोलंकी, जतिन आदि रहे। सुदामा चरित्र के साथ भागवत कथा का समापन

दानपुर : क्षेत्र के भीमपुर दोराहे पर पिछले सात दिन से चल रही भागवत कथा गुरूवार को समाप्त हो गई। कथा के अंतिम दिन वृंदावन से आए कथा व्यास श्री कांताचार्य महाराज ने लोगों को सुदामा चरित्र की कथा सुनाई।

उन्होंने कहा कि भगवान कृष्ण और सुदामा की मित्रता अनमोल थी। इस युग में भी इस मित्रता का गुणगान बड़े भाव से किया जाता है। इस मित्रता से हमें सीख मिलती है कि समय कैसा भी हो, हमे अपने लोगों का साथ नहीं छोड़ना चाहिए। परेशानी के समय अपने ही लोग काम आते है। एक दूसरे की मदद करना मित्रता की असली पहचान है। कथा प्रसंग के दौरान लोगों ने सुंदर भजनों की आनंद लिया। कृष्ण सुदामा की झांकियों ने श्रोताओं का मन मोह लिया। कथा समापन के बाद लोगों ने हवन किया। इस हवन की महिलाओं ने परिक्रमा लगाई। इस दौरान बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept