भइपुरा घटना स्थल का एडीजी ने लिया जायजा

जेएनएन बुलंदशहर चार दिन पूर्व रालोद नेता हाजी यूनुस के काफिले पर हुए हमले की एडीजी राजीव सबरवाल ने घटना स्थल पर पहुंचकर जानकारी ली।

JagranPublish: Wed, 08 Dec 2021 08:40 PM (IST)Updated: Wed, 08 Dec 2021 08:40 PM (IST)
भइपुरा घटना स्थल का एडीजी ने लिया जायजा

जेएनएन, बुलंदशहर : चार दिन पूर्व रालोद नेता हाजी यूनुस के काफिले पर हुए हमले की एडीजी राजीव सबरवाल ने घटना स्थल पर पहुंचकर जानकारी ली। एसएसपी संतोष कुमार सिंह और एसपी सिटी सुरेंद्र नाथ तिवारी ने क्राइम सीन से अवगत कराया और अब तक की कार्रवाई और उनकी गिरफ्तारी के प्रयासों की बाबत जानकारी दी।

एडीजी राजीव सबरवाल मंगलवार की देर रात बुलंदशहर पहुंचे। पुलिस लाइन सभागार में एसएसपी संतोष कुमार सिंह और एसपी सिटी सुरेंद्र कुमार तिवारी के साथ् एक समीक्षा बैठक की और आगामी विधानसभा चुनाव की बाबत जनपद में शांति व्यवस्था कायम रखने के निर्देश दिए। इसके साथ ही एडीजी राजीव सबरवाल रात करीब 10 बजे भइपुरा स्थित रजवाहे के पुल पर पहुंचे। जहां पुलिस अधिकारियों ने हमले की दिशा और गाड़ियों की लोकेशन से अवगत कराया। साथ ही चिह्नित गैंग की बाबत तथा उनके सदस्यों के घटना में होने की पुख्ता जानकारी दी। एडीजी राजीव सबरवाल ने एसएसपी संतोष कुमार सिंह को जल्द हमलावरों की गिरफ्तारी करने, पारिवारिक रंजिश में हुए हमले के खुलासा करने तथा आचार संहिता से पूर्व पुलिस कर्मियों के ट्रांसफर और रिलीव करने के दिशा निर्देश दिए।

गलत नामजदगी पर स्वजन ने जताया विरोध

बुलंदशहर : रालोद नेता एवं पूर्व ब्लाक प्रमुख हाजी यूनुस के काफिले पर हुए हमले के मामले में एक नामजद आरोपित के स्वजन ने उसे गलत फंसाने का आरोप लगाया है। आरोप है कि एक पुराने मामले में फैसले का दबाव बनाने के लिए गलत नामजदगी कराई गई है।

रविवार को कोतवाली देहात क्षेत्र के गांव भइपुरा में पूर्व ब्लाक प्रमुख के काफिले पर हुई ताबड़तोड़ फायरिग के मामले में नगर के मोहल्ला शेखसराय निवासी मोहम्मद शरीफ ठेकेदार के पुत्र नावेद को भी नामजद किया गया है। नावेद के पिता शरीफ ठेकेदार समेत अन्य स्वजन ने एसएसपी से मिलकर बताया कि वर्ष 2017 में नावेद को गोली मार दी गई थी, जिसमें हाजी यूनुस समेत अन्य आरोपितों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल हो चुका है। वर्तमान में यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है। इसी मामले में फैसले का दबाव बनाने के लिए हाजी यूनुस द्वारा खुद पर हुए जानलेवा हमले के मामले में नावेद को नामजद आरोपित बनाया गया है। घटना वाले दिन सुबह से रात आठ बजे तक नावेद अपनी दुकान पर मौजूद था। हाजी यूनुस के विरोधी पक्ष से भी उनका कोई मेलजोल अथवा मुलाकात तक नहीं है। मामले में एसएसपी से निष्पक्ष जांच की मांग की गई। एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने निष्पक्ष जांच कराकर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept