मानसिक रूप से खुद को सु²ढ़ बनाने का संकल्प

गायत्री शक्तिपीठ पूर्णिमा पर्व पर पांच कुंडीय गायत्री यज्ञ का आयोजन किया गया। गायत्री साधकों ने गायत्री मंत्रोचारण के बीच यज्ञ में आहुति देकर विश्वशांति की कामना की। साथ कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए खुद को मानसिक रूप से सु²ढ़ बनाने का संकल्प लिया।

JagranPublish: Mon, 17 Jan 2022 05:16 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 05:16 PM (IST)
मानसिक रूप से खुद को सु²ढ़ बनाने का संकल्प

बिजनौर, जेएनएन। गायत्री शक्तिपीठ पूर्णिमा पर्व पर पांच कुंडीय गायत्री यज्ञ का आयोजन किया गया। गायत्री साधकों ने गायत्री मंत्रोच्चारण के बीच यज्ञ में आहुति देकर विश्वशांति की कामना की। साथ कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए खुद को मानसिक रूप से सु²ढ़ बनाने का संकल्प लिया।

शांतिकुंज हरिद्वार के जोनल कार्यालय गायत्री शक्तिपीठ पर व्यवस्थापक डा. दीपक कुमार की देखरेख में पांच कुंडीय यज्ञ का आयोजन किया गया। सरला शर्मा, सारिका अग्रवाल, कामेश शर्मा, श्रद्धा रानी ने गौरी-गणेश व कलश पूजन कर यज्ञ का शुभारंभ किया। विभिन्न क्षेत्रों से आए गायत्री साधकों ने गायत्री मंत्रोच्चारण के साथ यज्ञ में आहुति दी। डा. दीपक कुमार ने कहा कि देव संस्कृति के निर्माता यज्ञ पिता और गायत्री माता हैं। गायत्री मंत्र समृद्धि मंत्र है। यज्ञ सतकर्मो की प्रेरणा प्रदान करता है। खुद का सुधार ही समाज की सबसे बड़ी सेवा है। मनुष्य खुद भाग्य निर्माता है। उन्होंने कहा कि संस्कार युक्त श्रेष्ठ संतान ही राष्ट्र की सच्ची संपत्ति है। नागरिक राष्ट्र एकता, अखंडता के लिए समर्पित रहें। उन्होंने कोरोना से बचाव के लिए चिकित्सकों और विशेषज्ञों द्वारा सुझाए गए नियमों का पालन करने के साथ-साथ खुद को मानसिक रूप से सु²ढ़ बनाने की सलाह दी। गायत्री साधकों ने महामृत्युंजय जाप से पूर्व खुद को सु²ढ़ बनाने का संकल्प लिया। इस अवसर पर रवि गर्ग, शिवांगी गर्ग, सर्वाग गुप्ता, सरिता अग्रवाल, भूपेंद्र चौधरी, विमला त्यागी, शशि चौधरी, राज भटनागर आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे। दो संस्थाओं में भेजा जरुरत का सामान

नजीबाबाद: द्वारिकेश समूह की द्वारिकेश नगर चीनी मिल की ओर से मुस्कुराहट कार्यक्रम के अंतर्गत दिव्यांग एवं बुजुर्गों की सेवा में जुटी दो संस्थाओं में जरूरत का सामान भेजा गया। द्वारिकेश चीनी मिल द्वारिकेशनगर के उपाध्यक्ष केपी सिंह, मुख्य महाप्रबंधक मानव संसाधन विकास सुदर्शन सिंह शेखावत ने सोमवार को संस्थान के वाहनों को आर्य सुगंध संस्थान मुस्सेपुर और कुष्ठ सेवा आश्रम नजीबाबाद रवाना किया। संस्थान के अधिकारियों-कर्मचारियों के परिवारों ने मुस्कुराहट कार्यक्रम से जुड़कर जरूरतमंद बच्चों, महिलाओं व बुजुर्गों की सेवार्थ गर्म कपड़े, खाद्य सामग्री आदि जरूरत का सामान एकत्र कर भेजा। संस्थान के प्रभास शर्मा यह सामान लेकर लाभार्थी संस्थाओं तक पहुंचे। उपाध्यक्ष केपी सिंह ने कहा कि जरुरतमंदों की मदद करना हर एक प्राणी का धर्म है और भारतीय संस्कृति भी हमें यही सिखाती है। एसएस शेखावत ने जरूरतमंदों की सेवा के लिए कंपनी में रह रहे परिवारों के आगे आने की सराहना की। महकार, अरविद मिश्रा, सीके मिश्रा, जवाहर, हिमांशु, संजीव तायल, पवित्र आदि का सहयोग रहा।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept