भदोही के 50 गांवों के एक हजार से अधिक किसानों का भूमि अधिग्रहण

मछलीशहर-वाराणसी हाईवे निर्माण को

JagranPublish: Fri, 24 Jun 2022 06:35 PM (IST)Updated: Fri, 24 Jun 2022 06:35 PM (IST)
भदोही के 50 गांवों के एक हजार से अधिक किसानों का भूमि अधिग्रहण

भदोही के 50 गांवों के एक हजार से अधिक किसानों का भूमि अधिग्रहण

जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : मछलीशहर-वाराणसी हाईवे निर्माण को लेकर कवायद तेज हो गई है। भदोही तहसील के 50 गांव के एक हजार किसानों की भूमि अधिग्रहण के लिए गजट कर दिया गया है। अधिसूचना जारी होते ही प्रभावित किसानों में खलबली मच गई है।

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय की ओर से मार्च 2022 में ही वाराणसी से मछलीशहर तक एनएच-731 निर्माण को हरी झंडी मिल गई थी। इसके लिए 640 करोड़ रुपये स्वीकृत किया गया है। निर्माण के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से निविदा भी निकाली जा चुकी है। शासन की ओर से भदोही तहसील के 50 गांवों के एक हजार किसानों की भूमि अधिग्रहित की जाएगी। अधिग्रहण प्रकिया के तहत गजट कर दिया गया है। इसके पश्चात किसानों से आपत्ति एवं अन्य अभिलेख मांगे जाएंगे। प्रभावित किसानों के अभिलेख लेकर मुआवजा का वितरण किया जाएगा। हाईवे के निर्माण से जहां राजधानी लखनऊ की दूरी कम हो जाएगी तो वहीं कालीन नगरी भदोही के विकास को गति मिलेगी।

---------

भदोही तहसील के यह गांव में शामिल

समालकोट, सियरहां, उगई का पुरा, सुरियावां जोरावर सिंह, महुआपुर, मकनपुर, मानिकपुर, नेवादाकला, नयनपुर, नरोत्तम चमरूपट्ट, मिश्राइनपुर, मसुधी, पिपरी, पिपरिस, रयां, रेवड़ापरसपुर, सरायभावसिंह, सरायक्षत्रशाह, शेरपुर गोपलहां, अमवा कला, बनकट हरिपट्टी, बरदहां, भंडा, भिखारीपुर, बिहियापुर, चकभुइधर, चकचंदा, चकजुवरानी, चकिया उर्फ उदई का पुरा, छनौरा, कस्तुरीपुर, किशुनपुर टेकारी, कोल्हण, कौवापुर, लक्षापुर, लखनपुर उर्फ अभयनपुर, छपरिया, चौरीदानूपट्टी, चौरी खास, देवदासपुर, धनापुर, धौरहरा, डूडवा धरमपुर, गौंडामीर ईमामली, गौरा आदि गांव के किसानों की भूमि अधिग्रहित की जाएगी। इसके लिए सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से अधिसूचना जारी कर दिया गया है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept