UP Election 2022 : सीटों के समीकरण में उलझी सपा ने रोके प्रत्याशियों के टिकट, लखनऊ में हलचल, डटे दावेदार

UP Vidhansabha Election 2022 भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को जिले की सात विधानसभा सीटों पर टिकट घोषित कर दिए। माना जा रहा था कि रविवार को समाजवादी पार्टी भी जिले के अपने प्रत्याशियों को नाम खोल सकती है लेकिन नाम पर मुहर नहीं लग पाई।

Ravi MishraPublish: Mon, 17 Jan 2022 07:44 AM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 07:44 AM (IST)
UP Election 2022 : सीटों के समीकरण में उलझी सपा ने रोके प्रत्याशियों के टिकट, लखनऊ में हलचल, डटे दावेदार

बरेली, जेएनएन। UP Vidhansabha Election 2022 : भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को जिले की सात विधानसभा सीटों पर टिकट घोषित कर दिए। माना जा रहा था कि रविवार को समाजवादी पार्टी भी जिले के अपने प्रत्याशियों को नाम खोल सकती है, लेकिन देर शाम तक किसी भी नाम पर मुहर नहीं लग पाई। इसका कारण जिले की चार सीटों का समीकरण बताया जा रहा है। हालांकि सभी दावेदार लखनऊ में ही डटे हुए हैं। माना जा रहा है कि प्रत्याशियों को ही वहां टिकट देने को बुलाया गया है।

समाजवादी पार्टी ने जिले की नौ विधानसभा सीटों में से छह पर साफ इशारा कर दिया है। इसके लिए लखनऊ में दावेदारों को बुला भी लिया गया है। सिर्फ तीन सीटों पर गहन मंथन के कारण अब तक सभी टिकट अटके हुए हैं। इनमें शहर, कैंट, बिथरीचैनपुर और बहेड़ी की सीट बताई जा रही है। शहर में अब तक दमदार प्रत्याशी का चयन पार्टी के लिए मुश्किल भरा बना हुआ है। वजह, यहां से अब तक कोई भी सपा प्रत्याशी चुनाव नहीं जीता है।

वही कैंट सीट पर तमाम कयास लगाए जा रहे हैं, कुछ लोग युवा दावेदार को टिकट मिलने की बाद कह रहे हैं तो वही, कुछ ने वरिष्ठ नेता को टिकट मिलने का संकेत दिया जा रहा है। इसी तरह बिथरीचैनपुर की सीट गठबंधन के चक्कर में फंसी हुई है। विचार किया जा रहा है किया क्या यहां से पार्टी के कैटर वाले नेता को प्रत्याशी बनाया जाए या नहीं। वही, एक युवा पदाधिकारी पर भी पार्टी दांव खेलने के मूड में है।

बहेड़ी में हालांकि काफी कुछ साफ हैं, फिर भी दावेदार लखनऊ डटे हुए हैं। यह भी माना जा रहा है कि जिन नेताओं को लखनऊ बुलाया गया है, उन्हें टिकट जारी किया जा सकता है। इसके अलावा फरीदपुर, नवाबगंज, भोजीपुरा, मीरगंज और आंवला का प्रत्याशी लगभग फाइनल हो चुका है। पार्टी सूत्रों के अनुसार जल्द टिकट की घोषणा कर सिंबल बांट दिए जाएंगे।

Edited By Ravi Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept