UP Election 2022 : नामांकन कराने की तैयारी में जुटा प्रशासन, चुनाव आयाेग ने जारी किया ये आदेश

जिले में 14 फरवरी को नौ सीटों पर चुनाव होना है। इसके लिए 21 जनवरी से कलक्ट्रेट ने प्रत्याशियों के नामांकन होने हैं। नामांकन में व्यवस्थाएं बनाने की तैयारी प्रशासन ने शुरू कर दी हैं। सभी नामांकन कलक्ट्रेट स्थित विभिन्न कक्षों में कराए जाने हैं।

Ravi MishraPublish: Sun, 16 Jan 2022 03:53 PM (IST)Updated: Sun, 16 Jan 2022 03:53 PM (IST)
UP Election 2022 : नामांकन कराने की तैयारी में जुटा प्रशासन, चुनाव आयाेग ने जारी किया ये आदेश

बरेली, जेएनएन। UP Election 2022 : जिले में 14 फरवरी को नौ सीटों पर चुनाव होना है। इसके लिए 21 जनवरी से कलक्ट्रेट ने प्रत्याशियों के नामांकन होने हैं। नामांकन में व्यवस्थाएं बनाने की तैयारी प्रशासन ने शुरू कर दी हैं। सभी नामांकन कलक्ट्रेट स्थित विभिन्न कक्षों में कराए जाने हैं। वहां तक प्रत्याशियों के पहुंचने और समर्थकों को बाहर ही रोकने के लिए कलक्ट्रेट में बैरिकेडिंग का काम शुरू हो गया है।

शनिवार को कलक्ट्रेट के मुख्य गेट से अंदर कक्षों की ओर अस्थायी बैरिकेडिंग के लिए बल्लियां लगा दी गई। जिले में प्रत्याशियों की नामांकन प्रक्रिया 21 जनवरी से शुरू होकर 28 जनवरी तक चलेगी। 29 जनवरी को नामांकन पत्रों की जांच और फिर 31 जनवरी को नाम वापसी होगी।

अधिकतम तीन सौ लोगों के साथ बैठक कर सकेंगे राजनीतिक दल

चुनाव आयोग ने शनिवार को चुनाव को लेकर दिशानिर्देश जारी किए। उप निर्वाचन अधिकारी वीके सिंह के अनुसार रोड शो, पदयात्रा, साइकिल-बाइक यात्रा, जुलूस 22 जनवरी तक प्रतिबंधित रहेंगे। राजनीतिक दलों, उम्मीदवारों और अन्य समूहों द्वारा भौतिक रूप से की जाने वाली निर्वाचन संबंधी रैलियां भी 22 जनवरी तक प्रतिबंधित हैं।

राजनीतिक दलों के लिए अधिकतम तीन सौ व्यक्तियों या हाल की क्षमता के 50 प्रतिशत या राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा अनुमन्य सीमा के तहत इंडोर मीटिंग की अनुमति प्रदान की गई है। जिला प्रशासन को निर्वाचन से जुड़ी सभी गतिविधियों पर नजर रखने को कहा गया है।

यूटा की बैठक में बाेले शिक्षक आचार संहिता के उल्लंघन से बचे  

यूनाइटेड टीचर्स एसोसिएशन (यूटा) की शनिवार को गांधी उद्यान में मासिक बैठक हुई। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष भानु प्रताप सिंह ने कहा कि कोई भी शिक्षक कर्मचारी आदर्श आचार संहिता का उलंघन नहीं करेगा। किसी भी प्रकार की ऐसी बैठक या रैली में हिस्सा नहीं लेंगे जो राजनीति से जुड़ी हो।उन्होंने सभी ब्लाक के पदाधिकारियों से अपील करते हुए कहा कि शिक्षकों को 60 साल पर सेवानिवृत्त होने पर विकल्प लेने पर होने वाले फायद को बताया जाए और सभी को विकल्प पत्र भरने के लिए प्रेरित किया जाए।

इस पर शिक्षकों ने कहा कि जिला स्तर पर ऐसे बहुत से अनुसूचित जाति के शिक्षक हैं जिनका एक पद पर सेवाकाल 10 वर्ष का हो गया है और चयन वेतनमान लगने के लिए आवेदन जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर कई महीनों से लंबित पड़े हैं और चयन वेतनमान स्वीकृत नहीं हो सके हैं। इस मौके पर हरीश बाबू, हेमंत कुमार, सतेंद्र पाल सिंह, जितेंद्र पाल सिंह, रवि कुमार, अमित चंद्रा, विनोद कुमार, देवराज भारती, राजेश कुमार, अमर गौतम, रमेश कुमार, रीता बत्रा, रीतू मिश्रा, सीरत खान, मीनाक्षी, सोहन पाल चौहान, गिरजेश सिंह आदि मौजूद रहे।

Edited By Ravi Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept