This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Sumit Yadav Death Case : पाेस्टमार्टम रिपाेर्ट से उलझी दिव्यांग की माैत की गुत्थी, पुलिस करेगी भाई समेत अन्य परिजनाें से पूछताछ

Sumit Yadav Death Case थाना इज्जतनगर क्षेत्र के गांव मुड़िया अहमद नगर निवासी दिव्यांग युवक की मौत की गुत्थी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद और उलझ गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में माैत की वजह हैंगिग आई है। स्वजनाें ने देर शाम शव का अंतिम संस्कार किया।

Ravi MishraSat, 05 Jun 2021 08:10 AM (IST)
Sumit Yadav Death Case : पाेस्टमार्टम रिपाेर्ट से उलझी दिव्यांग की माैत की गुत्थी, पुलिस करेगी भाई समेत अन्य परिजनाें से पूछताछ

बरेली, जेएनएन। Sumit Yadav Death Case : थाना इज्जतनगर क्षेत्र के गांव मुड़िया अहमद नगर निवासी दिव्यांग युवक की मौत की गुत्थी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद और उलझ गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में माैत की वजह हैंगिग आई है। स्वजनाें ने देर शाम शव का अंतिम संस्कार किया। पुलिस इस मामले में शनिवार को मृतक के भाई व अन्य स्वजन से पूछताछ करेगी।

थाना इज़्ज़तनगर क्षेत्र के गांव मुड़िया अहमदनगर निवासी धर्मपाल का पुत्र सुमित यादव का शव कमरे की ऊपर वाले खिड़की से कुछ कपड़ों के फंदे से लटका मिला था। स्वजन सुमित को शराब पिलाने वाले युवक पर हत्या करने का आरोप लगा रहे है। पुलिस ने शुक्रवार को शव का पोस्टमार्टम कराया। देर शाम आई रिपोर्ट में बताया गया कि सुमित की मौत लटकने से हुई है।

इसके बाद फिर वही सवाल की दोनों हाथों और एक पैर से दिव्यांग युवक आठ फिट ऊंची खिड़की पर फंदा कैसे लगा सकता है। इज्जतनगर इंस्पेक्टर सतीश कुमार ने बताया कि साफ तौर पर यह कहना कि दिव्यांग ने खुदकुशी की गलत होगा। बताया कि कई बिंदुओं पर जांच चल रही है। स्वजन से एक बार पूछताछ की जा चुकी है।

उन्होंने बताया कि पहले उन लोगों ने शव उतार लिया था, लेकिन बाद में गांव के लेागों के कहने पर दोबारा टांग दिया और पुलिस बुलाई। इंस्पेक्टर ने बताया कि ऐसी कई बातों पर मृतक सुमित के स्वजन से शनिवार को पूछताछ की जाएगी।

चारपाई पर बंधा था एक पैर

आशंका जताई जा रही है कि युवक को जबरन किसी ने फंदा लगाकर लगा दिया और घटना को खुदकुशी का रूप दिया होगा। प्रत्यक्षदर्शी बताते हैं कि फंदे पर लटके सुमित का एक पैर चारपाई से बंधा था। इंस्पेक्टर ने बताया कि सुमित रेडियो, मोबाइल चलाने समेत कई काम कर लेता था। लोगों ने बताया कि दिव्यांग युवक की कुछ दिन पहले मुआवजे की रकम आई थी। इसलिए पुलिस सुमित के अकाउंट भी चेक कराएगी।

बरेली में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!