This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

बरेली में मार्च से अब तक रिटायर्ड शिक्षकों को नहीं मिली पेंशन, जानें क्यों नहीं मिल पा रही पेंशन

Retired Teachers Not Received Pension in Bareilly बेसिक शिक्षा विभाग के प्राथमिक उच्च प्राथमिक व कंपोजिट विद्यालयों के कई शिक्षकों का रिटायरमेंट के छह महीने बाद भी अब तक उनकी पेंशन जारी नहीं हो सकी है। ऐसे शिक्षकों के परिवार को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

Samanvay PandeyMon, 27 Sep 2021 04:40 PM (IST)
बरेली में मार्च से अब तक रिटायर्ड शिक्षकों को नहीं मिली पेंशन, जानें क्यों नहीं मिल पा रही पेंशन

बरेली, जेएनएन। Retired Teachers Not Received Pension in Bareilly : बेसिक शिक्षा विभाग के प्राथमिक, उच्च प्राथमिक व कंपोजिट विद्यालयों के कई शिक्षकों का रिटायरमेंट के छह महीने बाद भी अब तक उनकी पेंशन जारी नहीं हो सकी है। विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के चलते पेंशन जारी होने की बात तो दूर अब तक उनकी पत्रावली तक बीईओ कार्यालय से लेखाधिकारी विभाग तक नहीं पहुंची है। ऐसे शिक्षकों के परिवार को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस वर्ष मार्च में बेसिक शिक्षा विभाग के 180 शिक्षक व प्रधानाध्यापकों का रिटायरमेंट हुआ।

एक महीने इंतजार के बाद जब पेंशन जारी नहीं हुई तो शिक्षकों ने विभागों के चक्कर काटने शुरू किए। साथ ही शिक्षकों ने बीएसए के अलावा लेखाधिकारियों को समय-समय पर पत्र भी सौंपे। लेकिन, अब तक उनकी पेंशन जारी नहीं हो सकी है। बेसिक शिक्षा विभाग के लेखाधिकारी योगेश कुमार का कहना है कि बीईओ कार्यालय से उनकी पत्रावली ही अभी नहीं पहुंची है। वहीं जिनकी पत्रावली पहुंची भी है। वह अधूरी है, जिसमें पूरे दस्तावेज शामिल नहीं हैं। वह प्राप्त होने के बाद ही शिक्षकों की पेंशन जारी हो सकेगी। इसमें विभागीय स्तर से कोई देरी नहीं है। कुछ शिक्षकों की पेंशन जारी भी हो चुकी है।

"हेल्थ आपकी फिक्र हमारी" : ग्लेन कैंसर हाॅस्पिटल ने अपने नये प्रोजेक्ट ग्लेन मल्टीस्पेशलिटी का शुभारंभ किया। अस्पताल संचालिका डा. रितू भूटानी के अनुसार अस्पताल ने बहुत ही कम समय के भीतर क्षेत्र में मुकाम हासिल किया है। अस्पताल हर वर्ग को साथ लेकर चल रहा है। यहां गरीबों के लिये भी विशेष ध्यान रखा गया है। जिसके चलते भारत सरकार की आयुष्मान योजना के चलते उनको निश्शुल्क उपचार की व्यवस्था की गई है। अस्पताल प्रबंधन का उद्देश्य लोगों में कैंसर के प्रति जागरूकता लाना है। साथ ही अन्य गंभीर बामीरियों के उपचार को सहज करना है। जिनके उपचार में मरीजों को दर-दर भटकना पड़ता था। ग्लेन अस्पताल एक ही छत के नीचे कई गंभीर रोगों से संबंधित विभागों को मरीजों को मुहैया करायेगा। इस अस्पताल में दिल्ली के डॉक्टरों के द्वारा टेली आइसीयू की सुविधा भी शीघ्र शुरू की जा रही है।

Edited By: Samanvay Pandey

बरेली में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!