कोरोना के कारण चाैपट हो रहा छात्रों का भविष्‍य, महज इतने प्रतिशत छात्र ही जुड़ पा रहे आनलाइन पढ़ाई से

आनलाइन व्यवस्था में कक्षा नौ से बारहवीं के एक चौथाई ही छात्र-छात्राएं पढ़ पा रहे हैं। स्कूलों को बंद रखने का आदेश चरणों में बढ़ाया जा रहा है। ऐसे में आनलाइन पढ़ाई प्रभावित हो रही है। जबकि दो महीने बाद बोर्ड की ओर से परीक्षाएं आयोजित कराने की तैयारी है।

Ravi MishraPublish: Wed, 26 Jan 2022 10:15 AM (IST)Updated: Wed, 26 Jan 2022 10:15 AM (IST)
कोरोना के कारण चाैपट हो रहा छात्रों का भविष्‍य, महज इतने प्रतिशत छात्र ही जुड़ पा रहे आनलाइन पढ़ाई से

बरेली, जेएनएन। कोरोना संक्रमण का प्रकोप तेजी के साथ बढ़ रहा है। ऐसे में छात्रों को इससे बचाने के लिए स्कूल बंद हैं और पढ़ाई को जारी रखने के लिए आनलाइन माध्यम को अपनाया जा रहा है। हालांकि, आनलाइन व्यवस्था में कक्षा नौ से बारहवीं के एक चौथाई ही छात्र-छात्राएं पढ़ पा रहे हैं। स्कूलों को बंद रखने का आदेश चरणों में बढ़ाया जा रहा है। ऐसे में आनलाइन पढ़ाई प्रभावित हो रही है। जबकि दो महीने बाद बोर्ड की ओर से परीक्षाएं आयोजित कराने की तैयारी है।

जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय की ओर से जिले भर से स्कूलों से आनलाइन पढ़ाई से जुड़ने वाले छात्रों की रिपोर्ट बनाकर मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक कार्यालय के जरिए 27 तक बोर्ड को भेजी जानी है। जिले में 414 उप्र बोर्ड, 80 केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड और सीआइएससीई से मान्यता प्राप्त करीब दस विद्यालय संचालित हैं। जहां कक्षा नौ से बारह तक 207407 छात्र-छात्राएं पंजीकृत हैं। इनमें से 50871 विद्यार्थी ही आनलाइन पढ़ाई से जुड़े हैं। वहीं अब तक 156536 विद्यार्थी आनलाइन पढ़ाई नहीं कर रहे हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक डा. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित स्कूलों से पूछने पर वहां नेटवर्क की समस्या और संसाधनों के अभाव में बच्चों के आनलाइन पढ़ाई से न जुड़ पाने का तर्क दिया जा रहा है। उधर, शिक्षक टीकाकरण कराने और चुनावी ड्यूटी के प्रशिक्षण में व्यस्त हैं, जिस वजह से आनलाइन पढ़ाई को गति नहीं मिल पा रही है। लेकिन, इसके लिए अन्य तरीके ढूंढे जा रहे हैं वहीं छात्रों को किसी भी तरह अपना पाठ्यक्रम का आनलाइन के जरिए रिवीजन करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

जिले में कक्षा नौ से बारहवीं तक छात्रों का पंजीकरण - 207407

आनलाइन पढ़ाई से जुड़ने वाले छात्रों की संख्या - 50871

आनलाइन पढ़ाई से न जुड़ने वाले छात्रों की संख्या - 156536

Edited By Ravi Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept