This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

पीलीभीत में सदर विधायक संजय सिंह गंगवार के खिलाफ इंटरनेट मीडिया पर आशोभनीय टिप्पणी करने वाले पर मुकदमा दर्ज्

Derogatory remarks against MLA Sanjay Singh Gangwar इंटरनेट मीडिया पर सदर विधायक संजय सिंह गंगवार के खिलाफ अशोभनीय भाषा का प्रयोग करने पर अधिवक्ता द्वारा विरोध किया गया। इस पर उन्हें जान से मार देने की धमकी दी गई।

Samanvay PandeySun, 08 Aug 2021 09:16 PM (IST)
पीलीभीत में सदर विधायक संजय सिंह गंगवार के खिलाफ इंटरनेट मीडिया पर आशोभनीय टिप्पणी करने वाले पर मुकदमा दर्ज्

बरेली, जेएनएन। Derogatory remarks against MLA Sanjay Singh Gangwar : इंटरनेट मीडिया पर सदर विधायक संजय सिंह गंगवार के खिलाफ अशोभनीय भाषा का प्रयोग करने पर अधिवक्ता द्वारा विरोध किया गया। इस पर उन्हें जान से मार देने की धमकी दी गई। पुलिस ने इस मामले में एक को नामजद करते हुए दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

शेरपुरकलां निवासी अधिवक्ता नईम खान द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमे में कहा गया कि नगर के मुहल्ला गणेशगंज निवासी रमेश चंद्र के द्वारा फेसबुक आईडी पर सदर विधायक का पोस्ट अपमानित करने व जनता में छवि धूमिल करने के उद्देश्य से धोखाधड़ी कर सूचना प्रौद्योगिकी एवं टेक्नोलॉजी की पहुंच के जरिए अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए अपनी फेसबुक आईडी पर टैग किया गया। उनकी आईडी से पोस्ट किए गए फोटो एवं अन्य सामग्री निकालकर उसका प्रयोग जनता को भड़काने के उद्देश्य किया गया। जब उन्होंने इसका विरोध किया और पोस्ट हटाने की बात कही तो वह अपने अन्य साथियों के द्वारा कार्रवाई करने पर जान से मार देने की धमकी देने लगे।

अधिवक्ता ने बताया कि उनको जान माल का खतरा बना हुआ है। अधिवक्ता ने रमेशचंद्र पर यूनियन किसान पार्टी का अपने आप को नेता बताकर गलत काम करने सहित कई गंभीर आरोप लगाए हैं। इंस्पेक्टर कोतवाली हरीशवर्धन सिंह ने बताया कि इस मामले में दोनों तरफ से तहरीर आई थी। रमेश चंद्र की गलती मिलने पर उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। रमेशचंद्र ने बताया कि पहले इंटरनेट मीडिया पर उनके खिलाफ अधिवक्ता ने अभद्र भाषा का प्रयोग किया था। इसके उनके पास भी साक्ष्य हैं। उन्होंने पहले पुलिस को तहरीर दी लेकिन रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई। सत्ता के दबाव में उनके खिलाफ गलत कार्रवाई की गई है। वह सोमवार को जिले के उच्चाधिकारियों से मिलकर इसकी शिकायत करेंगे। जल्द ही हुंकार भी भरी जाएगी।

Edited By: Samanvay Pandey

बरेली में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!