This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

बरेली विकास प्राधिकरण का कॉलोनी पर चला बुलडोजर तो माननीयों के घनघनाने लगे फोन, कार्रवाई पर अफसरों से जताई नाराजगी

सौ फुटा रोड स्थित व्यास स्कूल के पास और नगर रोड में एलायंस बिल्डर्स एंड कांट्रैक्टर्स व राजीव राणा द्वारा बनाई जा रही अवैध कालोनी पर शनिवार को बीडीए का बुलडोजर चल गया। बीडीए ने बिना अनुमति कराए जा रहे अवैध निर्माण को ध्वस्त कर दिया।

Sant ShuklaSun, 21 Mar 2021 09:05 AM (IST)
बरेली विकास प्राधिकरण का कॉलोनी पर चला बुलडोजर तो माननीयों के घनघनाने लगे फोन, कार्रवाई पर अफसरों से जताई नाराजगी

बरेली, जेएनएन। सौ फुटा रोड स्थित व्यास स्कूल के पास और नगर रोड में एलायंस बिल्डर्स एंड कांट्रैक्टर्स व राजीव राणा द्वारा बनाई जा रही अवैध कालोनी पर शनिवार को बीडीए का बुलडोजर चल गया। बीडीए ने बिना अनुमति कराए जा रहे अवैध निर्माण को ध्वस्त कर दिया। अवैध निर्माण करने वालों को नोटिस देकर सख्त कार्रवाई की चेतावनी भी दी। वही, एलायंस बिल्डर्स एंड कांट्रेक्टर्स के निदेशक रमनदीप सिंह ने इस बाबत बयान देने से इन्कार कर दिया।
योगी सरकार ने अवैध कालोनी बसाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। इसी के चलते बरेली विकास प्राधिकरण ने शहर में अवैध निर्माण करने वालों के खिलाफ अभियान चला रखा है। कई कॉलोनाइजरों पर बीडीए ने शिकंजा कसा है। दर्जन भर से अधिक अवैध कॉलोनियों को बीडीए ध्वस्त कर चुका है। शनिवार को बीडीए की टीम सौ फुटा रोड पर व्यास स्कूल के पास व नगर रोड पर पहुंची। वहां राजीव राणा, एलायंस बिल्डर्स समेत अन्य लोगों द्वारा करीब 30 बीघा भूमि पर अवैध निर्माण करवाया जा रहा था। वहां सड़क बनाने के लिए मिट्टी डालने, सड़क किनारे बाउंड्री के लिए चिनाई करने का काम चल रहा था। निर्माण के लिए बीडीए से अनुमति नहीं ली गई थी। बीडीए ने कॉलोनी पर बुलडोजर चलवाकर अवैध निर्माण ध्वस्त कर दिया। प्राधिकरण ने उप्र नगर योजना एवं विकास अधिनियम की 1973 की धारा के तहत कार्रवाई की। बीडीए की इस कार्रवाई के बाद शहर के कॉलोनाइजरों में खलबली मच गई है।

कार्रवाई हुई तो अफसर पर उतरी माननीय की नाराजगी
बताया जाता है कि 30 बीघा में बनाई जा रही इस कालोनी में कुछ जमीन दो माननीय की भी है। कुछ समय पहले पांच-पांच हजार वर्ग गज जमीन खरीदी गई थी। यह चर्चा दोपहर बाद बीडीए अफसरों व सियासी गलियारों में हुई, इससे पहले वहां अवैध निर्माण पर बुलडोजर चल चुका था। हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो सका कि जो निर्माण गिराया गया, वह किसके हिस्से की जमीन पर किया गया था। कार्रवाई की बात पता चलते ही एक माननीय ने प्राधिकरण के बड़े अफसर को फोन लगा दिया। कहा कि गलत तरीके से कार्रवाई की गई है। यह सही नहीं हैं। बताया जाता है कि दूसरे माननीय ने इस पर प्रतिक्रिया नहीं दी।
इंजीनियर ने बदली सूचना
कार्रवाई के बाद प्राधिकरण के इंजीनियर की ओर से प्रेस विज्ञप्ति भी जारी की गई। पहली बार जो विज्ञप्ति जारी की गई थी, उसमें एक प्रमुख बिल्डर का नाम था। बाद में दूसरी विज्ञप्ति जारी हुई, जिसमें से उनका नाम हटा दिया गया। हालांकि संस्था का नाम दर्ज रहा।
वही, दूसरी ओर एक अन्य बिल्डर ने वहां भूमि के कुछ भाग का नक्शा पास कराने के लिए जमा कराए जाने की बात कही है। हालांकि इसमें भी कुछ झोल होने की चर्चाएं लोगों में हैं।

क्या कहना है बिल्डरों का
सौ फुटा पर 1900 वर्ग मीटर भूमि का नक्शा पास कराने के लिे 27 फरवरी को बीडीए को दिया है। तीन दिन से भूमि की नापतौल की प्रक्रिया चल रही है। हम फीस जमा करने के बारे में पूछ रहे हैं, लेकिन हमें एनओसी जारी नहीं की जा रही हैं। यहां चौकीदार का कमरा बनाया था, जिसे तोड़ दिया गया है।
राजीव राणा, बिल्डर

बरेली में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!