बरेली : सावधान बच्चाें में बढ़ा काेराेना संक्रमण का खतरा, कोविड पाॅॅजटिव निकले मरीजाें काे देख रहे बाल रोग विशेषज्ञ

Bareilly Coronavirus News Update महाराणा प्रताप मंडलीय संयुक्त जिला चिकित्सालय में तैनात एकमात्र बाल रोग विशेषज्ञ भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। हैरानी यह है कि जब उनमें संक्रमण की पुष्टि हुई तब वह ओपीडी में मरीजों को देख रहे थे।

Ravi MishraPublish: Sat, 15 Jan 2022 07:38 AM (IST)Updated: Sat, 15 Jan 2022 07:38 AM (IST)
बरेली : सावधान बच्चाें में बढ़ा काेराेना संक्रमण का खतरा, कोविड पाॅॅजटिव निकले मरीजाें काे देख रहे बाल रोग विशेषज्ञ

बरेली, जेएनएन। Bareilly Coronavirus News Update : महाराणा प्रताप मंडलीय संयुक्त जिला चिकित्सालय में तैनात एकमात्र बाल रोग विशेषज्ञ भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। हैरानी यह है कि जब उनमें संक्रमण की पुष्टि हुई तब वह ओपीडी में मरीजों को देख रहे थे। इससे वहां पर कार्यरत अन्य स्टाफ एवं इलाज कराने के लिए आने वाले बच्चों के संक्रमित होने की आशंका बनी हुई है।

बाल रोग विशेषज्ञ डा. करमेंद्र शुक्रवार को भी मरीज देख रहे थे। दोपहर में उन्हें बुखार आया तो उन्होंने एंटीजन जांच कराई, जिसमें संक्रमण की पुष्टि हो गई। इसके बाद वह ओपीडी छोड़कर चले गए। इससे पहले बच्चा वार्ड के दो कर्मचारी भी बीते दिनों संक्रमित मिल चुके हैं। अब जिला अस्पताल में बाल रोग विशेषज्ञ नहीं बचे हैं। इस बारे में चिकित्सालय के मंडलीय अपर निदेशक एवं प्रमुख अधीक्षक डा. सुबोध कुमार शर्मा ने बताया कि डा. करमेंद्र के संक्रमित होने की सूचना मिली थी। इसके बाद वह होम आइसोलेशन में चले गए।

300 बेड के पीकू वार्ड के लिए भी बढ़ी मुश्किल

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर में सर्वाधिक बच्चों के संक्रमित होने की आशंका जताई जा रही है। बीते दिनों के आंकड़ों में कई बच्चे संक्रमित मिलने के बाद यह स्पष्ट भी हो गया है। अब अगर बच्चों के संक्रमित होने की संख्या बढ़ती है तो मुश्किल हो जाएगी, क्योंकि 300 बेड कोविड अस्पताल में तैयार किया गया पीडियाट्रिक इंटेसिव केयर यूनिट यानी पीकू में भी इलाज के लिए बाल रोग विशेषज्ञ नहीं बचा है।

शासन से मिले आदेश के अनुपालन में शहर के 300 बेड कोविड चिकित्सालय में 80 बेड को पीकू वार्ड भी तैयार कर दिया गया लेकिन अब तक यहां किसी बाल रोग विशेषज्ञ की तैनाती नहीं की गई है। 300 बेड कोविड चिकित्सालय के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. सतीश चंद्रा ने बताया कि कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने के बाद सीएमओ स्तर से डाक्टरों की तैनाती की जा रही है। सीएमओ को बाल रोग विशेषज्ञ की तैनाती संबंधी पत्र भी भेजा जाएगा। हालांकि पूर्व में ही पीकू वार्ड तैयार कर दिया गया है।

Edited By Ravi Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept