निर्वाचन कार्मिकों को शिकार बना रहे साइबर अपराधी

बाराबंकी साइबर अपराधी चुनाव कार्मिकों को अपना निशाना बना रहे हैं। निर्वाचन कार्यों के लि

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 01:16 AM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 01:16 AM (IST)
निर्वाचन कार्मिकों को शिकार बना रहे साइबर अपराधी

बाराबंकी : साइबर अपराधी चुनाव कार्मिकों को अपना निशाना बना रहे हैं। निर्वाचन कार्यों के लिए प्रयोग किए जा रहे गरुड़ मोबाइल एप को संचालित करने की जानकारी देने के बहाने साइबर अपराधी चुनाव कार्मिकों के खाते से रुपये उड़ा रहे हैं। इसमें कई शिक्षक साइबर क्राइम का शिकार हो चुके हैं।

एसपी अनुराग वत्स ने इस संबंध में अलर्ट जारी को लोगों को जागरूक भी किया है। दरअसल, निर्वाचन कार्य में लगे कर्मचारियों को स्वयं डीएम कार्यालय से बताते हुए साइबर अपराधी काल करते हैं। कार्रवाई की धमकी देते हुए उनसे तुरंत गरुड़ एप डाउनलोड करने को कहते हैं। इसके बाद इस एप को संचालित करने के लिए मोबाइल पर एनी डेस्क एप डाउनलोड करने को कहा जाता है। एप डाउनलोड होते ही साइबर अपराधी कार्मिकों के खाते से रुपये निकाल रहे हैं। इस प्रकार के कई मामले प्रकाश में आने पर पुलिस अधीक्षक ने गुरुवार को अलर्ट जारी करते हुए ऐसा होने पर तत्काल टोल फ्री नंबर 155260 और साइबर सेल के मोबाइल नंबर 7524909747 पर सूचना देने को कहा है। इनसेट

दो शिक्षकों के खाते से 80 हजार निकाले

विकासखंड सिरौलीगौसपुर के कई शिक्षकों ने गुरुवार को इस प्रकार ठगे जाने की शिकायत की है। बनीकोडर के कंपोजिट बेलिया गजपतिपुर के सहायक अध्यापक अशर्फी के खाते से 50 हजार रुपये व ब्लाक सिरौलीगौसपुर के कंपोजिट विद्यालय बिरौली के सहायक अध्यापक रमेश चंद्र के खाते से 30 हजार रुपये निकाल लिए गए। इसका संज्ञान में लेते हुए शिक्षक संगठन यूनाइटेड टीचर्स एसोसिएशन यूटा के जिलाध्यक्ष आशुतोष कुमार ने बीएसए को सूचना देकर कार्रवाई की मांग की और साइबर सेल को भी अवगत कराया। महामंत्री सिरौलीगौसपुर रामपाल रावत, सत्येन्द्र भास्कर, दीपक मिश्र, मोहित सिंह भी इस दौरान उपस्थित रहे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept