फलक छूने को बेताब मेधावी

जीएल यादव हाईस्कूल नयानगर की छात्रा रोली वर्मा ने हाईस्कूल परीक्षा में जनपद में दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

JagranPublish: Sat, 18 Jun 2022 11:07 PM (IST)Updated: Sat, 18 Jun 2022 11:07 PM (IST)
फलक छूने को बेताब मेधावी

आसमानों में उड़ने की आशा :

-जीएल यादव हाईस्कूल नयानगर की छात्रा रोली वर्मा ने हाईस्कूल परीक्षा में जनपद में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। इस सफलता से वह खुशी से फूली नहीं समा रही हैं। वह इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी करने के बाद एयरफोर्स में भर्ती होकर आसमानों में उड़ने का ख्वाब बुन रहीं हैं। रोली के पिता सरायखास निवासी गंगाराम कोटेदार हैं। रोली कहती हैं कि वह एयरफोर्स में भर्ती होकर देश की सेवा करना चाहती हैं। इसके लिए वह इंटरमीडिएट में गणित विषय से पढ़ाई करने का मन बना रहीं हैं। वह अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता व गुरुजनों को देती हैं। कहती हैं कि फौज में भर्ती होना मेरा सपना है। इसके लिए वह पूरी जी-जान से जुटी हैं। उनका पूरा फोकस फिलहाल अपनी पढ़ाई पर है।

सिविल सेवा में जाना चाहते हैं विशाल :

-जिले में तीसरा स्थान पाने किसान इंटर कालेज सिंहमुहानी गैंसड़ी के छात्र विशाल कुमार उत्साह से लबरेज हैं। विशाल के पिता कमलेश कुमार चौरसिया परिषदीय विद्यालय में सहायक अध्यापक हैं। माता संजू देवी गृहणी हैं। विशाल अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता व गुरुजनों को देते हैं। विशाल बताते हैं कि वह सिविल सेवा में जाकर देश के लिए कुछ करना चाहते हैं। इसकी तैयारी के लिए उन्होंने इंटरमीडिएट में गणित विषय का चयन करने का मन बनाया है। विशाल कहते हैं कि डाक्टर व इंजीनियर बनने के लिए उच्च शिक्षण संस्थानों में भारी भरकम पैसे खर्च होते हैं। अन्य नौकरियों में भी भ्रष्टाचार का दीमक लगा हुआ है। जबकि सिविल सेवा में जाने के लिए धन की कमी आड़े नहीं आती है। इसमें सिर्फ प्रतिभा को ही पहचान मिलती है। साथ ही सिविल सेवा के लिए चयन पूरी पारदर्शिता के साथ होता है। बताते हैं कि अगर सिविल सेवा में जाने का मौका मिला, तो उनका पहला वार भ्रष्टचार पर ही होगा।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept