बकाया वसूली पर जोर, सुविधाएं दिलाने में कमजोर

बिजली विभाग कार्यालय में नहीं नसीब बुनियादी सुविधाएं बिल जमा करने को उपभोक्ता कर रहे मशक्कत।

JagranPublish: Mon, 13 Jun 2022 10:07 PM (IST)Updated: Mon, 13 Jun 2022 10:07 PM (IST)
बकाया वसूली पर जोर, सुविधाएं दिलाने में कमजोर

श्लोक मिश्र, बलरामपुर : बिजली विभाग बकाया बिल वसूलने के लिए अभियान चला रहा है, लेकिन अपने द्वार पर आए उपभोक्ताओं को उनकी मूल सुविधाएं बिजली, पानी व छांव भी नहीं दे पा रहा है। इसी परिसर में अधिशासी अभियंता व अधीक्षण अभियंता दोनों बड़े अधिकारियों का कार्यालय है, लेकिन उनके यहां भी उपभोक्ताओं को कोई सुविधा नहीं मिल पा रही है। चिलचिलाती धूप में खुले आसमान के नीचे खड़े होकर उपभोक्ता बकाये का भुगतान तो कर देते हैं, लेकिन विभागीय अधिकारियों की बेरुखी उनको हमेशा के लिए दर्द दे जाती है।

²श्य एक : समय 12.35 बजे। अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड कार्यालय परिसर में बिजली बिल काउंटर पर लोगों की भीड़ लगी थी। देहात क्षेत्र के उपभोक्ता टिन शेड के नीचे लाइन लगाकर बिल जमा करने की होड़ में थे। वहीं शहरी क्षेत्रों के उपभोक्ताओं को अंदर बुलाकर बिल जमा कराया जा रहा था। सेखुइया निवासी नईम ने बताया कि एक घंटे से लाइन में खड़े हैं, लेकिन अभी नंबर नहीं आया।

²श्य दो : समय 12.40 बजे। आग बरसाती धूप से बचने के लिए उपभोक्ता पेड़ की छांव में बाइक व जमीन पर बैठे नजर आए। खमौवा निवासी सुरेश व बेलहा निवासी आलोक ने बताया कि एकमुश्त समाधान योजना चल रही है। बकाया बिजली बिल जमा करने आए हैं, लेकिन एक घंटे से इंतजार कर रहे हैं। बिल काउंटर पर बताया गया कि अभी समय लगेगा, इंतजार करो। इसलिए पेड़ की छांव में बैठ गए। ²श्य तीन : समय 12.45 बजे। अधिशासी अभियंता कार्यालय के सामने बने शौचालय में ताला लटक रहा था। बगल में लगे नल को चलाने के लिए हैंडल नहीं है। लकड़ी का टुकड़ा लगाकर जुगाड़ के सहारे नल चलाया जाता है। नीलकोठी निवासी सचिन व पहलवारा निवासी रोहित ने बताया कि अधिकारियों को यहां आने वाले उपभोक्ताओं से सिर्फ बिजली बिल वसूलने से मतलब है।

दूर की जाएंगी समस्याएं :

-अधिशासी अभियंता बालकृष्ण का कहना है कि शौचालय का ताला खुलवाकर सफाई कराई जाएगी। नल को दुरुस्त कराया जाएगा। सर्वर व्यस्त होने के कारण उपभोक्ताओं को बिल जमा करने के लिए इंतजार करना पड़ता है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept