मृतक आश्रित नियुक्ति में फर्जीवाड़ा, जांच में भी खेल

एडी बेसिक के पोर्टल पर लंबित है शिकायत 36 में से 18 शिक्षकों का रुका है वेतन

JagranPublish: Wed, 08 Dec 2021 10:47 PM (IST)Updated: Wed, 08 Dec 2021 10:47 PM (IST)
मृतक आश्रित नियुक्ति में फर्जीवाड़ा, जांच में भी खेल

श्लोक मिश्र, बलरामपुर:

जिले के बेसिक शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार का अंबार है। मृतक आश्रित कोटे से नियुक्ति में फर्जीवाड़ा की शिकायतें वर्षो से लंबित हैं। विभागीय अधिकारियों की साठगांठ व रसूखदारों के प्रभाव से कूटरचित ढंग से तैनात शिक्षक सालों से वेतन उठा रहे हैं। वर्ष 2018 में मुख्यमंत्री पोर्टल पर हुई शिकायत का निस्तारण नहीं हो सका है।

सहायक निदेशक बेसिक शिक्षा देवीपाटन मंडल के स्तर पर प्रकरण लंबित है। एडी बेसिक ने जिले के 36 अध्यापकों का विवरण खंड शिक्षा अधिकारियों से तलब किया था। आठ शिक्षकों ने बीएसए कार्यालय में शपथ पत्र प्रस्तुत किया। बीएसए ने 18 शिक्षकों का वेतन रोक दिया है। अन्य 10 शिक्षकों के मामले में अफसर चुप्पी साधे हुए हैं।

जिले के विभिन्न शिक्षा क्षेत्रों में मृतक आश्रित कोटे पर अवैध रूप से प्रधानाध्यापक व सहायक अध्यापक कई सालों से जमे हुए हैं। 11 मार्च 2018 को मुख्यमंत्री पोर्टल पर इस आशय की शिकायत की गई थी। 20 अक्टूबर 2021 को बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय से जिलाधिकारी को आख्या भेजी गई थी। इस पर प्रकरण अनिस्तारित हो गया, जो एडी बेसिक गोंडा के पोर्टल पर लंबित है। अंतिम निस्तारण के लिए 36 अध्यापकों का विवरण चार दिसंबर तक मांगते हुए वेतन रोकने की चेतावनी दी गई थी।

इस पर सदर ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय छितौनी के विकास श्रीवास्तव, पचपेड़वा के उच्च प्रावि अमरहवा के आनंद कुमार त्रिपाठी, रेहराबाजार के उच्च प्रावि भेलया मदनपुर के सैय्यद अब्दुल कारी, उच्च प्रावि ओवरीडीह के सैय्यद अब्दुल बारी, उच्च प्रावि केराडीह के भूपेंद्र नाथ शुक्ल, उच्च प्रावि लोनियनडीह के बंशीलाल, तुलसीपुर के उच्च प्रावि बरगदही के शशेंद्र प्रताप सिंह व उच्च प्रावि बड़ेरिया के राजकुमार त्रिपाठी ने नोटरी शपथ कार्यालय में प्रस्तुत किया है। इसकी जांच होना शेष है।

इन शिक्षकों का रोका वेतन:

नोटरी शपथ पत्र न देने पर बीएसए ने 18 शिक्षकों का वेतन रोक दिया है। इसमें प्रधानाध्यापक भुनेश्वर प्रसाद पांडेय, देशराज सिंह, फूलचंद्र, राजेश कुमार, सत्यव्रत सिंह, अंबरीश कुमार त्रिपाठी, सुभाष चंद्र त्रिपाठी, रेहान अहमद, रूपेशधर द्विवेदी, सहायक अध्यापक कल्बे हसन, राकेश दुबे, महेंद्र कुमार, भूपेंद्र मिश्र, शारदा देवी, विजय प्रकाश सिंह, शिव प्रकाश शुक्ल, रीता देवी व राकेश कुमार मिश्र शामिल हैं।

होगी कार्रवाई:

बीएसए डा. रामचंद्र का कहना है कि तीन दिन के अंदर नोटरी शपथ पत्र के साथ विवरण मांगा गया था। न देने वालों का वेतन रोक दिया गया है। जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम