जलस्तर बढ़ने से बढ़ी बाढ़ की आशंका

बौंडी/शिवपुर (बहराइच) पहाड़ी इलाकों के साथ ही मैदानी क्षेत्रों में हो रही बारिश से घ

JagranPublish: Fri, 01 Jul 2022 11:50 PM (IST)Updated: Fri, 01 Jul 2022 11:50 PM (IST)
जलस्तर बढ़ने से बढ़ी बाढ़ की आशंका

बौंडी/शिवपुर (बहराइच) : पहाड़ी इलाकों के साथ ही मैदानी क्षेत्रों में हो रही बारिश से घाघरा व सरयू नदी का जलस्तर तेजी से चढ़ने लगा है। तटवर्ती इलाकों के करीब दो दर्जन गांव नदी के मुहाने पर आ गए हैं। प्रशासन ने कटान से बचाने के लिए बंबूक्रेट बनाकर नदी का रुख गांव के विपरीत मोड़ने की कवायद शुरू कर दी है।

गुरुवार से जलस्तर में इजाफा होने लगा है। शिवपुर ब्लाक के नौव्वनपुरवा, पहलीपुरवा, मोतीपुरवा, सेवकपुरवा, हसमतपुरवा, पसियनपुरवा, परागी बेली, झुंडी सहित दर्जन भर गांव नदी के मुहाने पर हैं। ग्रामीणों का कहना है केवल क्षेत्रीय लेखपाल सर्वे करने गांव आया था। बांध की दूरी चार किलोमीटर है।

अवर अभियंता सरयू नहर ड्रेनेज खंड आशुतोष शर्मा ने बताया कि शिवपुर क्षेत्र के तिगडा गांव के पास बंबूक्रेट बनाकर सरयू नदी का रुख गांव के विपरित मोड़ने का प्रयास किया जा रहा हैं। 25 बंबूक्रेट में सात का निर्माण किया जा चुका है। बौंडी के अनवर खां, रमन मिश्र, ननकऊ का कहना है कि बाढ़ से फसल, गृहस्थी की तबाही व अस्त-व्यस्त जीवन जीने की आशंका से प्रभावित क्षेत्र के लोग व्याकुल हैं। प्रभारी तहसीलदार विपुल कुमार सिंह ने बताया कि शुक्रवार को जलस्तर में कमी आई है।

--------------------- बैराजों से छोड़ा गया 242639 क्यूसेक पानी - सरयू ड्रेनेज खंड प्रथम के सहायक अभियंता बीबी पाल ने बताया कि शुक्रवार की सुबह 10 बजे तीनों बैराजों से 242639 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। एल्गिन ब्रिज पर घाघरा का जलस्तर लाल निशान 106.07 मीटर के सापेक्ष 105.006 मीटर मापा गया। यहां घाघरा लाल निशान से 1.06 मीटर नीचे बह रही है। शारदा बैराज से 126629, गिरिजापुरी बैराज से 115127 व सरयू बैराज से 883 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। ------------------------- बाढ़ से निपटने की तैयारी पूरी - उपजिलाधिकारी महसी रामदास ने बताया कि बाढ़ व कटान से निपटने की तैयारियां पूरी कर ली गई है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 12 बाढ़ राहत चौकियां, दो स्थायी व चार अस्थायी बाढ़ शरणालय, आठ लंगर स्थल बनाए गए हैं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept