बहराइच को मिली तीन फायर स्टेशनों की सौगात

बहराइच पयागपुर में शेखापुर मुख्यालय कैसरगंज व महसी के मासाडीह में लगभग आठ-आठ करोड़

JagranPublish: Fri, 01 Jul 2022 11:51 PM (IST)Updated: Fri, 01 Jul 2022 11:51 PM (IST)
बहराइच को मिली तीन फायर स्टेशनों की सौगात

बहराइच: पयागपुर में शेखापुर, मुख्यालय कैसरगंज व महसी के मासाडीह में लगभग आठ-आठ करोड़ रुपये की लागत से नवनिर्मित फायर स्टेशनों का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअल माध्यम से लोकार्पण किया। इनकी स्थापना से अग्निकांड की घटनाओं में राहत व बचाव कार्य आसानी से हो सकेंगे।

प्रदेश के 25 जिलों में बनने वाले 57 फायर स्टेशनों का शुक्रवार को मुख्यमंत्री ने वर्चुअल माध्यम से लोकार्पण किया। इसका सजीव प्रसारण किया गया। महसी में सांसद अक्षयवर लाल गोंड ने विधायक सुरेश्वर सिंह, एएसपी ग्रामीण अशोक कुमार, एसडीएम रामदास के साथ शिलापट्ट का अनावरण कर जनता को समर्पित किया। विशेश्वरगंज के शेखापुर में विधायक सुभाष त्रिपाठी ने कहा कि अग्निशमन केंद्र की स्थापना हो जाने से क्षेत्र के हजारों किसानों को आगजनी की घटनाओं से राहत मिलेगी। जिलाधिकारी डा. दिनेश चंद्र ने कहा कि क्षेत्र में आगजनी से निपटने के लिए अग्निशमन केंद्र की स्थापना की गई है। इस मौके पर एसपी केशव चौधरी, सीएफओ राम सुमेर त्रिपाठी, विधायक प्रतिनिधि निशंक त्रिपाठी मौजूद रहे। कैसरगंज में आयोजित कार्यक्रम में प्रमुख जरवल विपेंद्र कुमार वर्मा ने एएसपी नगर कुंवर ज्ञानंजय सिंह, एसडीएम महेश कुमार कैथल, सीओ कमलेश कुमार सिंह मौजूद रहे।

------------------

प्राणघातक हमला करने वालों को पांच वर्ष की सजा

बहराइच : तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश सुरजन सिंह ने प्राणघातक हमला करने के मामले में तीन अभियुक्तों को पांच-पांच वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई। सभी अभियुक्तों पर सात-सात हजार रुपये का अर्थदंड लगाया है। अर्थदंड न जमा करने पर एक-एक माह अतिरिक्त सजा काटनी पड़ेगी।

अपर शासकीय अधिवक्ता अपराध प्रमोद कुमार सिंह ने मामले की पैरवी की। उन्होंने बताया कि रामगांव के तारापुर खुर्द निवासी इसरार अहमद को 11 जून 2017 को सुबह सवा नौ बजे गांव के ही भुट्टू, मैनुद्दीन व ननके ने बच्चों के विवाद को लेकर कहासुनी होने के बाद जब वह नमाज पढ़कर वापस लौट रहा था, तभी सभी अभियुक्तगणों ने गालियां देते हुए लाठी-डंडा से मारपीट कर सिर पर चोटें पहुंचाईं, जिससे वह वहीं बेहोश होकर गिर पड़े और उनके हाथ-पैर भी टूट गए। पुलिस ने तहरीर के आधार पर एनसीआर दर्ज किया। मेडिकल के आधार पर प्राणघातक हमला, हड्डी टूटने की धाराएं बढ़ाते हुए अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस ने विवेचना के बाद अदालत पर आरोप पत्र प्रस्तुत किया। शुक्रवार को अदालत ने मामले की सुनवाई करते हुए अभियुक्तगण भुट्टू, मैनुद्दीन व ननके को सजा सुनाई। सजायाबी वारंट तैयार कर सजा भुगतने के लिए जेल भेज दिया गया।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept