पोस्टर प्रतियोगिता के जरिए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का दिया मंत्र

शहर स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में सोमवार को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया गया। इस मौके पर पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन कर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया गया।

JagranPublish: Mon, 11 Oct 2021 07:32 PM (IST)Updated: Mon, 11 Oct 2021 07:32 PM (IST)
पोस्टर प्रतियोगिता के जरिए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का दिया मंत्र

बागपत, जेएनएन। शहर स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में सोमवार को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया गया। इस दौरान अध्यापिकाओं व छात्राओं ने समाज से जुड़े घरेलू हिसा, दहेज प्रथा, बाल विवाह, बाल अधिकार विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। इन्हीं विषयों पर पोस्टर, स्लोगन, कविता प्रतियोगिता का भी आयोजन हुआ, जिसमें छात्राओं ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का मंत्र दिया। विद्यालय की वार्डन मधु त्यागी ने बताया कि पोस्टर प्रतियोगिता में शिवानी, साक्षी, प्रिया, लायबा नेहा, तनु, मानसी, खुशी, कशिश, उजमा, प्रियांशी, स्लोगन प्रतियोगिता में आरती, खुशी, शिवानी, नेंशी, प्राची, प्रियांशी, दीपांशी, सुहाना, जैनब, मुबस्सिरा, ईशु, आसमीन व कविता प्रतियोगिता में जुनैदरा, इकरा, मुस्कान, साक्षी, इंशा, रिया ने भाग लिया। इस दौरान नीतू रानी, पूनम रानी, रश्मि, मीनाक्षी, मोनिका आदि अध्यापिकाएं मौजूद रहीं।

चेयरपर्सन से सीएचसी पर

बांटे आयुष्मान कार्ड

संवाद सहयोगी, खेकड़ा: भारत सरकार की तरफ से पांच लाख रुपये का फ्री इलाज करने के लिए आयुष्मान कार्ड बनाए जा रहे हैं। सोमवार को काठा मार्ग स्थित सीएचसी पर लगे शिविर में नगर पालिका की चेयरपर्सन संगीता धामा ने 112 पात्र को कार्ड वितरित किए। स्टाफ ने बताया कि अब गरीबी रेखा से नीचे आने वाले राशनकार्ड धारकों के कार्ड बनाए जा रहे हैं। पात्र व्यक्ति सीएचसी पर अपने कागजात जमा कर सकते हैं।

यज्ञ में लिया संकल्प जीवन को देता है ऊंचाई : कपिल शास्त्री

संवाद सूत्र, दाहा: सोमवार को भड़ल गांव में स्थित शूटिग रेंज पर आयोजित राष्ट्र कल्याण यज्ञ में कपिल शास्त्री ने कहा कि जीवन को सफल एवं सुखी बनाने के लिए सच्चाई को अपने जीवन में अपनाना होगा। यज्ञ में लिया गया संकल्प हमें उच्च जीवन प्रदान करता है। संस्कृत भाषा सभी भाषाओं की जननी है। संस्कृत में बोले जाने वाले मंत्र विचार होते हैं। शुभ कार्यों एवं यज्ञ में बैठकर जो विचार करते हैं, वो पूर्ण होते है। इसलिए ही यज्ञ को शिव कहते हैं। शिव परमात्मा का नाम हैं। जो सभी प्राणियों का कल्याण करते हैं। इस मौके पर अंकित राणा, सूरज राणा, अक्षत राणा, आशुतोष, शशांक, विवेक, अर्चित नैन आदि मौजूद रहे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept