पांच दिवसीय स्काउट गाइडिग शिविर संपन्न

जागरण संवाददाता बड़ौत दिगंबर जैन कालेज में मंगलवार को अध्यापक प्रशिक्षण विभाग में आयोजित

JagranPublish: Tue, 30 Nov 2021 10:59 PM (IST)Updated: Tue, 30 Nov 2021 10:59 PM (IST)
पांच दिवसीय स्काउट गाइडिग शिविर संपन्न

जागरण संवाददाता, बड़ौत : दिगंबर जैन कालेज में मंगलवार को अध्यापक प्रशिक्षण विभाग में आयोजित पांच दिवसीय स्काउट गाइडिग शिविर के अंतिम दिवस प्रशिक्षक रामकिशन शर्मा ने छात्राओं का ध्वज शिष्टाचार, तंबू निर्माण, गैजेट्स निर्माण आदि के बारे में जानकारी दी। इस दौरान प्राचार्य डाक्टर वीरेंद्र सिंह ने कहा कि स्काउट एक सुविकसित व्यक्ति वह है जिसे स्वयं पर भरोसा है। वातावरण से सामंजस्य करने की उसमें क्षमता है तथा स्वयं प्रसन्न रहकर दूसरों को सुख और प्रसन्नता प्रदान करने में समर्थ है। रोवर लीडर डाक्टर महेश कुमार मुछाल ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि स्काउटिग एक शैक्षिक खेल है, जिसकी अपनी एक विशिष्टता है।

सेवानिवृत्त होने पर भावभीनी विदाई दी

संवाद सूत्र, छपरौली: मंगलवार को कस्बे के सीएचसी परिसर में समारोह आयोजित कर सेवानिवृत्त वरिष्ठ चिकित्सक बिजेंद्र सिंह को भावभीनी विदाई दी गई। सीएचसी के अधिकारियों व कर्मियों ने डाक्टर बिजेंद्र सिंह को सम्मानित किया। सीएमओ डाक्टर दिनेश कुमार, छपरौली सीएचसी प्रभारी डाक्टर यशवीर सिंह, पूर्व सीएमओ जितेंद्र वर्मा, डाक्टर चक्रेश आदि ने डाक्टर बिजेंद्र सिंह को कर्मठ, ईमानदार एवं आम रोगियों का हितैषी डाक्टर बताया। दीपक कुमार, जयेंद्र सिंह, विवेक, सुरेंद्र सिंह, अजय शर्मा व ओमपाल आदि मौजूद थे।

ईपीई के किनारे से खड़े वाहन नहीं हटा रही पुलिस

संवाद सहयोगी, खेकड़ा : ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे पर किनारे खड़े होने वाले वाहनों से आए दिन हादसे हो रहे हैं। सोमवार दिन निकलते ही मवीकलां इंटरचेंज पर किनारे खड़े वाहन से होंडा सिटी कार टकराई। इसमें कार सवार कुरुक्षेत्र के लाड़वा थाना के खानपुर निवासी रविद्र कुमार की मौत हो गई थी। जबकि तीन अन्य घायल हुए थे। इससे पूर्व भी बड़ी संख्या में वाहन सवार की मौत किनारे खड़े होने वाले वाहनों के कारण हो चुके हैं। लेकिन इसके बाद भी एनएचएआइ व बागपत प्रशासन की आंख नहीं खुल रही है। प्रशासन की लापरवाही के कारण आए दिन होते हादसों की संख्या बढ़ती जा रही है। हैरत की बात है कि कोहरा आसमान के दिनोंदिन बढ़ रहा है परंतु प्रशासन किनारे खड़े होने वाले वाहनों को हटाने की तरफ ध्यान नहीं दे रहा है। इससे आगामी समय में हादसों की संख्या बढ़ सकती है। मंगलवार को यमुना पुल से लेकर गाजियाबाद की सीमा तक दर्जनों स्थान पर ट्रक खड़े रहे। कुछ ट्रक ही बड़ागांव की ले-बाई में खड़े नजर आए। कार चालक, राजीव, दिनेश, संदीप, मनीष और जितेंद्र ने प्रशासन व एनएचएआइ से किनारे खड़े होने वालों पर कार्रवाई की मांग की है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept