चुनाव में बसों की कमी बनेगी समस्या, 546 की तलाश में जुटा प्रशासन

-बढ़ी समस्या -जिलाधिकारी को एआरटीओ कार्यालय ने स्थिति से कराया अवगत -जिले में उपलब्ध 504 ब

JagranPublish: Tue, 18 Jan 2022 04:22 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 04:22 PM (IST)
चुनाव में बसों की कमी बनेगी समस्या, 546 की तलाश में जुटा प्रशासन

-बढ़ी समस्या::

-जिलाधिकारी को एआरटीओ कार्यालय ने स्थिति से कराया अवगत

-जिले में उपलब्ध 504 बसों के अधिग्रहण के लिए भेजा गया नोटिस जागरण संवाददाता, आजमगढ़: जिले के दस विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव की तैयारी को अंतिम रूप देने में प्रशासनिक अमला जुट गया है। मतदान कर्मियों को मतदान केंद्रों तक पहुंचाने के लिए निर्वाचन आयोग ने बसों का ही उपयोग करने का निर्देश दिया हैं। ऐसे में जिले में बसों की कमी की समस्या खड़ी हो गई है। जिले के 10 विधानसभा क्षेत्र के 2,345 मतदान केंद्रों तक कर्मचारियों, ईवीएम वीवीपैट पहुंचाने के लिए 1050 बसों की आवश्यकता हैं। इतनी बसों की व्यवस्था करना एआरटीओ विभाग जुट गया है। जिले में मात्र 504 बस की उपलब्ध हैं। ऐसे में 546 बसों की व्यवस्था करना प्रशासन के लिए चुनौती बना हुआ हैं। एआरटीओ विभाग ने इसकी रिपोर्ट जिलाधिकारी को प्रेषित कर दी है। इधर, उपलब्ध बसों के मालिकों को चुनाव में अधिग्रहण के लिए नोटिस भेज दिया गया हैं। एआरटीओ वैकल्पिक के तौर पर 546 छोटे ट्रकों के अधिग्रहण की भी कार्रवाई कर कर रहा है।

-------

350 स्कूल बस वाहनों को भी भेजा नोटिस

विधानसभा चुनाव में वाहनों के अधिग्रहण की प्रक्रिया में एआरटीओ विभाग ने 350 स्कूल बसों को भी नोटिस भेजा हैं। इसमें बसों की फिटनेस सहित चालक-परिचालक की व्यवस्था, परमिट सहित अन्य कागजात पूर्ण होना भी जरूरी हैं।

------

बसों की उपलब्धता की रिपोर्ट जिलाधिकारी को प्रेषित कर दी गई हैं। बसों की कमी को पूरा करने के लिए मंडलस्तर से व्यवस्था की जाएगी। फिलहाल वैकल्पिक व्यवस्था के लिए छोटे ट्रकों के भी अधिग्रहण के लिए नोटिस भेजा जा रहा है।

-सत्येंद्र कुमार, एआरटीओ

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept