कोहरे संग सर्द हवा ने हर किसी को कंपाया

शीतलहर -हेडलाइट जलाने के बाद भी सड़कों पर रेंगते रहे वाहन -दोपहर बाद झलक दिखाकर

JagranPublish: Mon, 17 Jan 2022 05:13 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 05:13 PM (IST)
कोहरे संग सर्द हवा ने हर किसी को कंपाया

शीतलहर

-हेडलाइट जलाने के बाद भी सड़कों पर रेंगते रहे वाहन

-दोपहर बाद झलक दिखाकर ओझल हो गए भगवान भास्कर

-हाई बीपी के मरीजों को ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत जागरण संवाददाता, आजमगढ़: मौसम में आए बदलाव के कारण ठंड बेकाबू होती जा रही है। सोमवार को कोहरे की धुंध और सर्द हवा ने ठंड बढ़ा दी। इससे तापमान में भारी गिरावट हुई और पूरा दिन कांपते बीता। कोहरे के कारण हेडलाइट जलाने के बाद भी वाहन सड़कों पर रेंगते रहे। कोहरे के कारण 10 मीटर दूर तक भी कुछ नहीं दिखाई दे रहा था। लोग अलाव के सहारे ठंड से बचाव को जूझते नजर आए। सुबह और दिन ढलने के बाद लोग घरों में दुबक गए। घरों से लोग जरूरी काम से निकले भी तो चादर ओढ़कर। सोमवार को अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 08 डिग्री सेल्सियस रहा। हवा की गति 5 से 11 किमी प्रति घंटा रही, जबकि आ‌र्द्रता 92 फीसद रिकार्ड किया गया। ठंड में सबसे अधिक दिक्कत बुजुर्ग व बच्चों को हो रही है। बच्चों को खेलने की आजादी नहीं मिल पा रही है।

दूसरी ओर ठंड के कारण लोग बीमारियों के चपेट में आने लगे हैं। बीपी व शुगर के मरीजों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। जिला चिकित्सालय के वरिष्ठ फीजिशियन डा. राजनाथ ने हाई बीपी के मरीजों को ज्यादा सावधानी बरतने की सलाह दी है।

अंबारी : ठंड से बचने के लिए सुबह टहलने वाले माचिस लेकर चल रहे हैं और ज्यादा ठंड लगने पर खेतों में पड़े पुआल जलाकर ठंड दूर कर ले रहे हैं। मौसम का रुख देख अन्नदाता अपनी फसलों को लेकर चितित हो रहे हैं। कोहरा और हवा के चलते दलहनी और तिलहनी फसलों पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। हवा का रुख बदलने पर दलहनी और तिलहनी फसलों को अधिक नुकसान होता है।

फूलपुर : जरूरी कार्य से घर से निकलना मजबूरी है और निकलने वाले चौराहों पर अलाव की तलाश कर रहे हैं, लेकिन सार्वजनिक स्थान पर अलाव जलता हुआ नहीं मिल रहा। अगर कहीं जल रहा है तो पुलिस पिकेट व तहसील प्रांगण में।

मेंहनगर :ग्रामीण इलाकों में सरकारी अलाव की व्यवस्था न होने से लोग स्वयं की व्यवस्था कर रहे हैं। ग्रामीणों ने सड़क किनारे लगे जंगली पेड़ों को अलाव के लिए काटने की अनुमति दिए जाने की मांग की है। बिलारमऊ : फूलपुर तहसील के बिलारमऊ, खानजहांपुर, पलिया बाजार में अभी तक सरकारी अलाव नहीं जलाए गए। पछुआ हवा व गलन बढ़ने से सभी परेशान हैं। इस संबंध में उपजिलाधिकारी ज्ञान चंद्र गुप्ता का कहना है कि चयनित स्थानों पर ही अलाव जलवाए जाते हैं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept