एनटीपीसी के आठ कर्मी समेत 29 मिले संक्रमित, 1581 का भेजा नमूना

कोरोना संक्रमण की दर लगातार बढ़ रही है। हालांकि स्वस्थ होने वालों की लाइन बढ़ रही है।

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 10:19 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 10:19 PM (IST)
एनटीपीसी के आठ कर्मी समेत 29 मिले संक्रमित, 1581 का भेजा नमूना

अंबेडकरनगर : कोरोना संक्रमण की दर लगातार बढ़ रही है। हालांकि स्वस्थ होने वालों की संख्या में भी निरंतर इजाफा हो रहा है। ऐसे में लापरवाही भी खूब दिख रही है। सरकारी कार्यालयों में अधिकारियों के अलावा अन्य लोग बगैर मास्क घूमते दिखाई देते हैं। शुक्रवार को आई रिपोर्ट में एनटीपीसी के आठ कर्मचारी समेत कुल 29 लोग संक्रमित मिले। उधर, 33 लोग पूरी तरह स्वस्थ हुए।

संक्रमण से बच्चे और बुजुर्ग प्रभावित न हों, इसलिए 24 जनवरी से विशेष अभियान चलाया जाएगा, ताकि किसी कारणवश टीके से वंचित इन लोगों की पहचान हो सके। शुक्रवार को 2625 लोगों का टीकाकरण किया गया, इसमें 15 से 18 साल के किशोर भी शामिल हैं। कोरोना जांच अधिकारी डा. संजय वर्मा ने बताया कि अधिकांश लोगों में लक्षण नहीं दिख रहा है, लेकिन जांच कराने के बाद पाजिटिव आ रहे हैं। लगातार खांसी, गले में खराश, सीने में दर्द होने पर जांच जरूर कराएं। इसके साथ ही संक्रमण से बचने के लिए टीके की दोनों डोज लगने के बाद भी मास्क लगाएं और हाथों को साबुन से धुलें। 97 की स्क्रीनिग और 1581 का भेजा नमूना : जिला चिकित्सालय में शुक्रवार को 97 लोगों की स्क्रीनिग की गई व 86 का नमूना लिया गया। नौ सीएचसी, दो मोबाइल मेडिकल टीम, मेडिकल कालेज, जिला चिकित्सालय से कुल 1581 लोगों की जांच की गई। इसमें चार लोगों की एंटीजन किट और ट्रूनेट से दो-दो जांचें की गईं।

होम आइसोलेशन में निगरानी संग दवाओं से कोरोना को दे रहे मात

अंबेडकरनगर: कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है, लेकिन इसका असर पहले दो चरणों जैसा नहीं है। टीके की दोनों डोज के कारण संक्रमित होम आइसोलेशन में रहकर नियमित निगरानी से एक सप्ताह में स्वस्थ हो रहे हैं। अब तक सौ से अधिक लोग ठीक हो चुके हैं। मेडिकल कालेज, टांडा, जिला चिकित्सालय और जलालपुर में कोविड मरीजों को भर्ती करने की व्यवस्था सु²ढ़ की गई है। पहली और दूसरी लहर से कम संक्रमित तीसरे चरण में भी नहीं मिल रहे, लेकिन इस बार लोगों में भय नहीं है, क्योंकि उन्हें टीके का कवच मिला है। हालांकि, 15 वर्ष से कम उम्र के बच्चों की सुरक्षा की चिता अधिक है, क्योंकि उन्हें अभी तक कोई टीका नहीं लगा है। तीसरे चरण में पाजिटिव मिलने का सिलसिला बीते पांच जनवरी से एक केस के साथ शुरू हुआ था जो अब तक 43 लोगों के एक साथ संक्रमित मिलने का रिकार्ड है। एक पखवाड़े में कुल 363 मरीज मिले हैं, जबकि 153 पूरी तरह स्वस्थ हुए हैं। संक्रमित हुए निखिल, रेहान, राबी यादव, एकता, सचिन अग्रवाल ने बताया कि डाक्टर फोन पर रोजाना स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेते रहे। कोरोना किट भी दिया गया था। सीएमओ डा. श्रीकांत शर्मा ने बताया कि अभी तक कोई भी संक्रमित अस्पताल में भर्ती नहीं किया गया है, फिर भी लोग संक्रमण के प्रति सचेत रहें।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept