This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

घर से बुलाकर दोस्तों ने गोली से उड़ा दिया मानस को, प्रयागराज की घटना में देशी पिस्टल समेत एक बंदी

अबूबकरपुर इलाके में शुक्रवार रात मानस सिंह पुत्र शक्ति सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वारदात को अंजाम देने वाले इसी मोहल्ले में रहने वाले दो-तीन युवक हैं। घटना के पीछे पुरानी रंजिश सामने आ रही है। सूचना पाकर एसपी सिटी समेत कई अधिकारी मौके पर पहुंच गए

Ankur TripathiSat, 26 Jun 2021 12:04 AM (IST)
घर से बुलाकर दोस्तों ने गोली से उड़ा दिया मानस को, प्रयागराज की घटना में देशी पिस्टल समेत एक बंदी

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। धूमनगंज थाना क्षेत्र के प्रीतम नगर स्थित अबूबकरपुर मोहल्ले में शुक्रवार की शाम रेलकर्मी के पुत्र की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वारदात को अंजाम उसके ही दोस्तों ने दिया। घटना के पीछे वजह क्या थी, यह स्पष्ट नहीं हो सका है, लेकिन किसी बात पर कहासुनी के दौरान देशी पिस्टल से उसके चेहरे पर गोली मार दी गई। मामले में पुलिस ने एक आरोपित को पकडऩे के साथ ही हत्या में प्रयुक्त देशी पिस्टल को बरामद कर लिया है। जबकि अन्य की तलाश में दबिश दी जा रही है।

कमरे में बैठे और तभी गोली चलने की आवाज से सभी चौंक गए

प्रीतम नगर स्थित अबूबकरपुर मोहल्ला निवासी शक्ति नारायण सिंह रेलवे में लोको पायलट हैं। इस समय वह वाराणसी में तैनात हैं। उनका 22 वर्षीय बेटा मानस कुमार शुक्रवार शाम अपने घर में था। तभी उसके दोस्त अमित व एक अन्य बाइक से आए। दोनों ने उसे साथ चलने को कहा, लेकिन मानस ने इंकार कर दिया। बहुत कहने पर वह उनके साथ चला गया। उसे अमित अपने निर्माणाधीन मकान में ले गया। वहां मजदूर काम कर रहे थे। एक कमरे में अमित, मानस, सूरज व दो अन्य युवक बैठे थे। इसी बीच उनके बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ। काम में लगे मजदूर कुछ समझ पाते, इससे पहले गोली चलने की आवाज आई। मजदूरों के साथ ही आसपास के लोग भी घटनास्थल की तरफ दौड़े। तभी अमित और उसके दोस्त वहां से भाग निकले। लोग कमरे में पहुंचे तो वहां मानस खून से लथपथ पड़ा था। उसके चेहरे पर गोली लगी थी। उसके स्वजनों को जानकारी हुई तो आननफानन में उसे स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।  खबर मिली तो एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी, एसपी सिटी दिनेश सिंह, इंस्पेक्टर धूमनगंज अनुपम शर्मा समेत कई अधिकारी मौके पर पहुंचे। मजदूरों और आसपास के लोगों से पूछताछ की गई। इसके बाद मृतक के स्वजनों की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज की गई। पुलिस ने एक आरोपित को हत्या में प्रयुक्त देशी पिस्टल के साथ गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। इंस्पेक्टर धूमनगंज का कहना है कि घटना की वजह अभी साफ नहीं हो सकी है, लेकिन अभी तक यही पता चला है कि उनके बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। आरोपितों की तलाश में दबिश दी जा रही है और जल्द ही सभी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

घर का चिराग बुझा दिया कातिलों ने

मानस अपने माता-पिता का एकलौता पुत्र था। उसकी दो बहनें भी हैं। मानस की हत्या के बाद पिता, मां पूनम, बहनें समेत परिवार के अन्य सदस्यों का रो-रो कर बुरा हाल है। लोगों ने बताया कि मानस के पिता शक्ति नारायण ङ्क्षसह चार भाई हैं। शक्ति नारायण के बड़े भाई भक्ति सिंह भी रेलवे से रिटायर हुए हैं। उनसे छोटे मुक्ति  मुंबई में नौकरी करते हैं। सबसे छोटे भाई टीएन सिंह सीआरपीएफ में असिस्टेंट कमांडेंट हैं।

 

Edited By Ankur Tripathi

प्रयागराज में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
Jagran Play

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

  • game banner
  • game banner
  • game banner
  • game banner