Vikas Dubey News : अमर दुबे एनकाउंटर पर हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के महासचिव ने उठाया सवाल

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे के साथी अमर दुबे के हमीरपुर में मुठभेड़ में मारे जाने पर इलाहाबाद हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के नवनिर्वाचित महासचिव प्रभाशंकर मिश्र ने सवाल उठाया है।

Umesh TiwariPublish: Fri, 10 Jul 2020 02:04 AM (IST)Updated: Fri, 10 Jul 2020 02:11 AM (IST)
Vikas Dubey News : अमर दुबे एनकाउंटर पर हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के महासचिव ने उठाया सवाल

प्रयागराज, जेएनएन। दुर्दांत अपराधी विकास दुबे के साथी अमर दुबे के हमीरपुर में मुठभेड़ में मारे जाने पर इलाहाबाद हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के नवनिर्वाचित महासचिव प्रभाशंकर मिश्र ने सवाल उठाया है। मिश्र ने हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को भेजे पत्र में लिखा है कि पुलिस ने बिना किसी आपराधिक इतिहास के अमर दुबे की नवविवाहिता पत्नी को गिरफ्तार किया है। महासचिव ने चीफ जस्टिस से इस मामले में सुओ मोटो संज्ञान लेने का आग्रह भी किया है।

इलाहाबाद हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के महासचिव प्रभाशंकर मिश्र ने पत्र में लिखा है कि पुलिस ने अमर दुबे को पकड़कर फर्जी मुठभेड़ में मार डाला और 10 दिन पहले ब्याह कर आई उसकी पत्नी को बिना किसी आपराधिक इतिहास के जेल भेज दिया। पत्र में लिखा है कि पुलिस इसी तरह अन्य 50 से लेकर 100 लोगों के साथ कर रही है। किसी को मुठभेड़ तो किसी को जेल भेज दिया जा रहा है। मकान और वाहन तोड़े जा रहे हैं। ऐसा लगता है कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था नहीं है। उन्होंने चीफ जस्टिस से ऐसी परिस्थिति में मामले का स्वत: संज्ञान लेने का आग्रह किया है। महासचिव का यह पत्र सोशल मीडिया में वायरल है। उनसे संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन, उनका मोबाइल फोन नंबर 9794028875 स्विच ऑफ था।

बता दें कि आतंक के पर्याय विकास दुबे के दाहिने हाथ और भतीजे अमर दुबे को एसटीएफ व हमीरपुर पुलिस ने आठ जुलाई तड़के मार गिराया था। गोलीबारी में हमीरपुर जिले के मौदहा कोतवाली के प्रभारी मनोज शुक्ला व एसटीएफ सिपाही राजीव कुमार भी घायल हो गए। अमर बिकरू गांव में मुठभेड़ के दौरान सीओ समेत आठ पुलिस कर्मियों की हत्या के मामले में आरोपित था। उस पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था। वह अरतरा गांव में एक रिश्तेदार के घर फरारी काटने के लिए आया था लेकिन मुखबिरी होने पर टीम ने घेराबंदी कर ली। फंसे अमर ने भागने की कोशिश में एसटीएफ और पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। इंस्पेक्टर और एसटीएफ सिपाही के घायल होने के बाद पुलिस ने अमर पर गोलीबारी को वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे जिला अस्पताल भेजा गया, वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया।

Edited By Umesh Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept