प्रयागराज में हुए बवाल के बाद सतर्कता, रेलवे स्टेशनों पर एक सप्ताह तक तैनात रहेगी अतिरिक्‍त फोर्स

प्रयागराज में बवाल के बाद रेलवे स्टेशनों पर फोर्स तैनात है। आरपीएफ जीआरपी लगातार पेट्रोलिंग करेगी। साथ ही रेलवे ट्रैक को भी अपनी निगरानी में रखेगी। रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म से लेकर सर्कुलेटिंग एरिया में लगातार चेकिंग भी की जाएगी।

Brijesh SrivastavaPublish: Sat, 29 Jan 2022 12:59 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 12:59 PM (IST)
प्रयागराज में हुए बवाल के बाद सतर्कता, रेलवे स्टेशनों पर एक सप्ताह तक तैनात रहेगी अतिरिक्‍त फोर्स

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। रेलवे की एनटीपीसी परीक्षा लेवल वन का रिजल्ट आने के बाद प्रयागराज शहर में हुए हंगामे व बवाल के बाद रेलवे स्टेशनों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। साथ ही रेलवे ट्रैक को भी गहन निगरानी में रखा जा रहा है। मौजूदा हालात को देखते हुए अगले एक सप्ताह तक रेलवे स्टेशनों पर अतिरिक्त फोर्स तैनात रहेगी और हालात पर कड़ी नजर रखी जाएगी। हालांकि सभी रेलवे मंडलों में परीक्षार्थियों के लिए शिकायत सुनने व उनके निवारण के लिए कैंप लगाया गया है। जिससे अब किसी अप्रिय घटनाओं की संभावना नहीं है। फिर भी इंटरनेट मीडिया पर तरह-तरह के संदेश वायरल होने व खुफिया रिपोर्ट के आधार पर रेलवे स्टेशनों की सुरक्षा में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी।

आरपीएफ व जीआरपी रेलवे स्‍टेशनों पर लगातार करेगी पेट्रोलिंग

रेलवे स्टेशनों पर आरपीएफ और जीआरपी लगातार पेट्रोलिंग करेगी। वह स्टेशन के पूरे परिक्षेत्र पर हर वक्त अपनी नजर रखेगी। साथ ही रेलवे ट्रैक को भी अपनी निगरानी में रखेगी। रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म से लेकर सर्कुलेटिंग एरिया में लगातार चेकिंग भी की जाएगी। इसके अलावा सभी मुख्य द्वार जहां से प्रवेश व निकासी हो सकता है, वहां पर अतिरिक्त पुलिस टुकड़िया तैनात रहेंगी।

ट्रेन से आने वालों पर भी विशेष नजर

स्टेशन पर तैनात जीआरपी व आरपीएफ ट्रेन से उतरने वाले यात्रियों पर भी नजर रख रही है। उनकी गतिविधियों को ध्यान से देखा जा रहा है। रेलवे अधिकारियों ने अतिरिक्त सतर्कता बरतने को कहा है और स्पष्ट किया है कि किसी भी तरह की लापरवाही पर कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद रेलवे स्टेशनों पर अतिरिक्त सुरक्षा व सतर्कता दिखाई पड़ रही है। इस समय प्रयागराज में माघ मेला चल रहा है इसके कारण रेलवे स्टेशनों पर पहले से ही अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात है। इसका इस्तेमाल अब निगरानी बढ़ाने व सुरक्षा बढ़ाने में किया जा रहा है।

जानें, क्या है मामला

25 जनवरी को प्रयाग स्टेशन के पास एनी बेसेंट रेलवे क्रॉसिंग पर बड़ी संख्या में छात्र एकत्रित हो गए थे और रेलवे ट्रैक बाधित कर दिया था। इससे कानपुर पैसेंजर प्रयाग स्टेशन पर ही आधे घंटे तक यही रुकी रही। छात्रों ने एनटीपीसी सीबीटी 1 परीक्षा के रिजल्ट में बदलाव की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। इसी दौरान कुछ अराजक तत्वों ने पुलिस पर पथराव कर दिया, जिससे मामला बिगड़ गया। पुलिस ने भी लाठीचार्ज किया जिसमें कई छात्र घायल हुए। बाद में लाज व कमरों में रह रहे छात्रों को दरवाजा तोड़कर बाहर निकालने व पीटने का वीडियो भी वायरल हुआ, जिसमें अब कई पुलिसकर्मी सस्पेंड कर दिए गए हैं और जमकर पुलिसिया कार्रवाई की किरकिरी हो रही है। दूसरी ओर रेलवे बोर्ड ने एनटीपीसी सीबीटी 2 परीक्षा को स्थगित कर दी है। यह परीक्षा 15 फरवरी से होनी थी। रेलवे ने परीक्षार्थियों की शिकायत सुनने के लिए प्रत्येक मंडल पर कैंप लगा दिया है। वहां 16 फरवरी तक परीक्षार्थियों की शिकायतें सुनी जाएंगी।

Edited By Brijesh Srivastava

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept