यूपी चुनाव 2022: सुरक्षित सीट होने पर प्रयागराज की बारा विधानसभा के वोटरों का मिजाज बदला

UP Chunav 2022 विधानसभा बारा के सुरक्षित सीट होने पर डा. अजय कुमार सपा के टिकट पर चुनाव मैदान में आए। उन्हें 46182 वोट हासिल हुए। उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी बसपा प्रत्याशी भोलानाथ चौधरी को हराया। 42426 भोलानाथ को मिले थे।

Brijesh SrivastavaPublish: Mon, 17 Jan 2022 12:41 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 12:41 PM (IST)
यूपी चुनाव 2022: सुरक्षित सीट होने पर प्रयागराज की बारा विधानसभा के वोटरों का मिजाज बदला

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। सिल्का सेंड से देश भर में पहचान रखने वाले बारा विधानसभा में राजनीतिक दलों का बारी-बारी से दबदबा रहा है। बारा विधानसभा 2007 तक सामान्य थी। इसके पहले के चुनाव में कभी बसपा तो कभी भाजपा ने सीट पर कब्जा जमाया था। सीट सुरक्षित होने पर समाजवादी पार्टी काबिज हुई। 2017 में वोटरों ने भाजपा को फिर शीर्ष पर बैठा दिया। सुरक्षित सीट होने के बाद वोटरों के मिजाज में बदलाव आया है। इसलिए 2022 के चुनाव में रोमांच बढ़ गया है। देखना होगा कि ताज किस पार्टी के सिर पर रखा जाता है।

रामसेवक सिंह पटेल तीन बार बने विधायक

90 के दशक में बसपा के रामसेवक सिंह पटेल लगातार तीन बार विधायक चुने गए। उसके बाद भाजपा प्रत्याशी उदयभान करवरिया दो बार चुनाव जीते। 2007 के चुनाव में जब वह जीते तो कांटे का मुकाबला हुआ। भाजपा प्रत्याशी उदयभान करवरिया को 51,592 वोट मिलने पर जीत हासिल हुई थी। बसपा प्रत्याशी दीपक सिंह पटेल ने उन्हें टक्कर देते हुए 47,358 मत प्राप्त किए थे। सपा के टिकट पर चुनाव लड़े राम सेवक सिंह पटेल 29,628 मत के साथ तीसरे स्थान पर आ गए थे। कांग्रेस प्रत्याशी दाल बहादुर सिंह 10,009 वोट लेकर चौथे स्थान पर आए थे। अन्य 11 प्रत्याशी चुनाव में अपनी छाप छोड़ नहीं पाए थे।

एक नजर में बारा विधानसभा सीट

-1,54,874 कुल मत पड़े थे 2007 के चुनाव में

-1,72,634 मतदाताओं ने 2012 में डाले थे वोट

-1,89,974 मतों के संग 2017 में बना नया रिकार्ड।

इस चुनाव में मतदाताओं का रुझान किधर होगा

विधानसभा बारा के सुरक्षित सीट होने पर डा. अजय कुमार सपा के टिकट पर चुनाव मैदान में आए। उन्हें 46,182 वोट हासिल हुए। उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी बसपा प्रत्याशी भोलानाथ चौधरी को हराया। 42,426 भोलानाथ को मिले थे। अपना दल प्रत्याशी अजय भारती 25,705 वोट, कांग्रेस प्रत्याशी मंजू संत 20,069 और भाजपा प्रत्याशी वैभव नाथ भारती 17,738 वोट संग क्रमश: तीसरे, चौथे एवं पांचवें स्थान पर रहे थे। 2017 के चुनाव में मतदाताओं ने सपा के स्थान पर भाजपा को जिताया। भाजपा प्रत्याशी डा. अजय कुमार 79,209 मत लेकर जीते। सपा प्रत्याशी अजय भारती को 45,156 वोट के साथ दूसरे स्थान पर संतोष करना पड़ा था। बसपा प्रत्याशी अशोक कुमार गौतम 37,052 वोट प्राप्त करके तीसरे स्थान पर रहे। निषाद पार्टी के प्रत्याशी फूलचंद्र ने 10,704 वोट हासिल करने में सफल रहे। चुनाव आंकड़ों के अनुसार इस सीट पर एक विधायक को लगातार दो या उससे अधिक बार अपनी सत्ता काबिज करने का मौका मिला है। इस बार देखना होगा कि मतदाताओं का रुझान किस पार्टी की तरफ रहता है।

Edited By Brijesh Srivastava

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept