भारत गौरव पर्यटक ट्रेन से प्रयागराज आए 500 राम भक्त, यमुना तट की छटा देखकर बोले- जय श्री राम

स्वदेश दर्शन योजना के तहत रेल मंत्रालय ने भारत गौरव पर्यटक ट्रेन की शुरूआत की है। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (आइआरसीटीसी) पर यात्रा की जिम्मेदारी है। ट्रेन के यात्रीगण भारत और नेपाल के उन ऐतिहासिक हिस्सों से होकर प्रयागराज पहुंचे हैं

Ankur TripathiPublish: Sun, 26 Jun 2022 11:17 PM (IST)Updated: Sun, 26 Jun 2022 11:17 PM (IST)
भारत गौरव पर्यटक ट्रेन से प्रयागराज आए 500 राम भक्त, यमुना तट की छटा देखकर बोले- जय श्री राम

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। श्रीरामायण यात्रा भारत गौरव पर्यटक ट्रेन से तीर्थाटन पर निकले देश के विभिन्न राज्यों के पांच सौ यात्री रविवार देर शाम संगम नगरी पहुंचे। इन राम भक्तों ने तीर्थराज में जहां सनातनी गौरव की अनुभूति की, वहीं प्रयागराज भी इन अतिथियों का आतिथ्य कर आह्लादित हो उठा।

स्वदेश दर्शन योजना के तहत भारत गौरव पर्यटक ट्रेन की शुरूआत

धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन मंत्रालय की स्वदेश दर्शन योजना के तहत रेल मंत्रालय ने भारत गौरव पर्यटक ट्रेन की शुरूआत की है। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (आइआरसीटीसी) पर यात्रा की जिम्मेदारी है। ट्रेन के यात्रीगण भारत और नेपाल के उन ऐतिहासिक हिस्सों से होकर प्रयागराज पहुंचे हैं जहां प्रभु श्रीराम के चरण पड़े और उनके जीवन के अहम पड़ाव रहे हैैं। अयोध्या, जनकपुरी (नेपाल), सीतामढ़ी, बक्सर से होते हुए वाराणसी में ट्रेन को रोक दिया गया। फिर ये पर्यटक वाराणसी से 11 बसों से यहां पहुंचे। शहर के 13 अलग-अलग होटलों में सभी को ठहराया गया है।

संगम नगरी में यमुना किनारे स्थित पर्यटन विभाग के होटल त्रिवेणी दर्शन परिसर पहुंचने पर प्रदेश सरकार के प्रतिनिधि के रूप में मौजूद कैबिनेट मंत्री नंदगोपाल गुप्त नंदी ने इन तीर्थ यात्रियों का स्वागत किया। मंत्री ने सभी को अंगवस्त्रम पहनाया तो भाजपा महिला मोर्चा की पदाधिकारियों ने टीका-रोली लगाया। इस मौके पर सीडीओ सीपू गिरि, क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी अपराजिता सिंह, आइआरसीटीसी के नरेश शर्मा, समाजसेवी स्वाति गुप्ता, राजीव गुप्ता भी मौजूद रहे।

रात्रि भोज में परोसे गए लजीज व्यंजन

पर्यटकों को रात्रि भोज में मुख्य रूप से प्रयागराज की मशहूर पीठी कचौड़ी व दमालू परोसी गई। इसके साथ ही पनीर शिमला बटर मसाला, काजू मटर मशरूम, अरहर की दाल, चावल, तंदूरी रोटी, बूंदी का रायता दिया गया। स्वीट डिश में मूंग का हलवा परोसा गया।

सुबह पावन संगम में लगाएंगे पुण्य की डुुबकी

सोमवार सुबह सभी यात्री पावन संगम में पुण्य की डुबकी लगाएंगे। फिर अक्षयवट, बड़े हनुमान मंदिर व शंकर विमान मंडपम में दर्शन-पूजन करेंगे। यहां से वे भरद्वाज आश्रम और फिर श्रृंगवेरपुर जाएंगे। शाम को सभी यात्री चित्रकूट के लिए रवाना होंगे। ट्रेन इन यात्रियों को बुधवार को मानिकपुर में मिलेगी। वहां से लेकर मध्य प्रदेश फिर महाराष्ट्र की ओर रवाना होगी। नासिक, रामेश्वरम, कांचिपुरम, भद्राचलम होते हुए ट्रेन आठ जून को दिल्ली पहुंचेगी। यह टे्रन 18 दिनों की यात्रा में भगवान श्रीराम के जीवन से जुड़े देश के विभिन्न स्थलों से गुजरेगी।

राममय हुआ यमुना तट, सीता स्वयंवर की लीला की प्रस्तुति

समारोह स्थल यमुना तट राममय हो गया। यहां पहुंचते ही तीर्थ यात्रियों ने जय श्रीराम, जै-जै श्रीराम के जयकारे लगाए। इसके साथ वंदेमातरम, भारत माता की जय से कार्यक्रम स्थल गुंजायमान हो गया। कार्यक्रम में पथरचट्टïी रामलीला कमेटी की ओर से रामकथा के एक भावमय अंश की प्रस्तुति की गई। लगभग एक घंटे 20 मिनट में धनुष यज्ञ व सीता स्वयंवर की लीला का कलाकारों ने भावपूर्ण मंचन किया। राम के रूप में श्वेतांक मिश्र व सीता के रूप में प्रज्ञा केशरवानी के अभिनय को सराहा गया।

Edited By Ankur Tripathi

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept