मुंबई से आई ट्रेन में यात्रियों का दबाव दिखा कम, कोविड टेस्ट कराने के नाम पर बचते नजर आए यात्री

मुंबई से आने वाली ज्यादातर ट्रेनें प्लेटफार्म नंबर आठ नौ व दस पर आती हैं। इन गाडिय़ों के आने पर ई-रिक्शा व टैक्सी चालकों का जमावड़ा लग जाता है। सवारी बैठाने को लेकर बहस भी होती है। कुछ यात्रियों का आरोप है कि ये चालक मनमाना किराया वसूल रहे हैं।

Ankur TripathiPublish: Wed, 21 Apr 2021 10:34 PM (IST)Updated: Wed, 21 Apr 2021 10:34 PM (IST)
मुंबई से आई ट्रेन में यात्रियों का दबाव दिखा कम, कोविड टेस्ट कराने के नाम पर बचते नजर आए यात्री

प्रयागराज, जेएनएन। महाराष्ट्र से प्रवासी लौट रहे हैं। मुंबई से आने वाली ट्रेनों में बुधवार को यात्रियों का दबाव कम दिखा। तुलसी, काशी एक्सप्रेस व कामायनी एक्सप्रेस में पहले की अपेक्षा कम यात्री रहे। बुधवार को रेलवे स्टेशनों, बस अड्डे व एयरपोर्ट पर कुल 845 यात्रियों का कोविड टेस्ट किया गया। इनमें 17 पॉजिटिव मिले।

तुलसी, कामायनी व काशी एक्सप्रेस में पिछले दिनों की अपेक्षा संख्या रही कम

05017 लोकमान्य तिलक टर्मिनल-गोरखपुर काशी एक्सप्रेस, 02129 एलटीटी-प्रयागराज तुलसी एक्सप्रेस व 01071 एलटीटी-वाराणसी कामायनी एक्सप्रेस में पिछले दिनों की अपेक्षा बुधवार को यात्रियों की संख्या कम रही। ये गाडिय़ां हफ्तेभर से फुल होकर आ रही थीं। लेकिन, बड़ी संख्या में यात्री अपने साथ अधिक सामान भी ला रहे हैं। वहीं, कोविड टेस्ट कराने के नाम पर बचते नजर आते हैं। बुधवार को पुल नंबर दो पर जांच टीम तैनात थी। लेकिन, बड़ी संख्या में यात्री बगैर जांच कराए चले गए। जंक्शन पर कुल 352 यात्रियों का कोविड टेस्ट किया गया। इनमें 11 संक्रमित मिले। प्रयागराज छिवकी पर 77 लोगों की जांच मेें एक भी पॉजिटिव केस नहीं मिला। वहीं, सिविल लाइंस बस अड्डे पर 176 लोगों की जांच की गई, जिसमें एक संक्रमित मिला। एयपोर्ट पर 240 कोविड जांच में पांच यात्री पॉजिटिव मिले।

ई-रिक्शा और टैक्सी वालों की मनमानी

मुंबई की ओर से आने वाली ज्यादातर ट्रेनें प्लेटफार्म नंबर आठ, नौ व दस पर आती हैं। इन गाडिय़ों के आने पर ई-रिक्शा व टैक्सी चालकों का जमावड़ा लग जाता है। सवारी बैठाने को लेकर बहस भी होती है। कुछ यात्रियों का आरोप है कि ये चालक मनमाना किराया वसूल रहे हैं।

Edited By Ankur Tripathi

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept